विधानसभा अध्यक्ष हो सकते है शेखावटी से

प्रशांत गौड़ 
-परसराम मोरदिया का नाम सबसे ज्यादा चर्चा में 
जयपुर। गहलोत सरकार के मंत्रीमंडल गठन के साथ विधानसभा में विधायकों को शपथ दिलाने के लिए सत्र आहुत भी किया जाना है। ऐसे में अब विधानसभा अध्यक्ष के नाम पर भी चर्चा शुरू हो चुकी है। कांग्रेस में इस बार यह नाम शेखावटी इलाके से हो सकता है। इस पर भी चर्चाए ज्यादा है। इसमें परसराम मोरदिया का नाम सबसे ज्यादा आगे तो जितेन्द्र सिंह, दीपेन्द्र सिंह शेखावत बीकानेर से बीडी कल्ला का नाम भी चल रहा है। 
उल्लेखनीय है कि विधानसभा अध्यक्ष किसी अनुभवी, समझदार, विधायकी मामलों की पकड़ रखने वाले विधायकों को इससे नवाजा जाता रहा है। पिछली बीजेपी सरकार में कैलाश मेघवाल विधानसभा अध्यक्ष थे तो इससे पहले कांग्रेस सरकार में विधानसभा अध्यक्ष दीपेन्द्र सिंह शेखावत रहे है। अब नए सिरे से कई नामों पर चर्चा है। इसमें वरिष्ठ विधायकों के नाम पर ज्यादा मंथन चल रहा है। सूत्रों की माने तो परसराम मोरदिया के नाम पर सबसे ज्यादा मंथन चल रहा है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता होने के साथ राजस्थान आवासन मंडल के अध्यक्ष रहे है। कांग्रेस में काम करने का लंबा अनुभव और एक लंबी राजनीतिक पारी का अनुभव उनके पास है और उनकी सभी पार्टियों में अच्छे संबंध होने के कारण विधानसभा में सदन की कार्यवाही चलाना आसान होगा हालांकि नाम अभी तय नहीं है। 


Share This