पोदार शिक्षण संस्थाओं में बाल दिवस पर हुई विविध प्रतियोगिताएँ

नवलगढ़ - दी आनन्दीलाल पोदार ट्रस्ट द्वारा संचालित पोदार जी.पी.एस., पोदार एस.के.पी टायनी टोडलर प्ले स्कूल, पोदार हिन्दी माध्यम, पोदार प्राइमरी स्कूलों में देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू के जन्म दिवस को बाल दिवस के रूप में मनाया गया। पोदार जी.पी.एस. प्राचार्या श्रीमती सोनिया मिश्रा, पोदार टायनी टोडलर प्ले स्कूल प्राचार्या सुश्री प्रेमलता एवं पोदार हिन्दी माध्यम प्रधानाचार्य डाॅ. मोहन सिंह ने पंडित नेहरू के समक्ष पुष्प अर्पित कर उन्हें याद किया। जिसमें जूनियर गु्रप क्रिकेट प्रतियोगिता में कक्षा 8 विजेता व कक्षा 9 उपविजेता रही। सीनियर गु्रप के वाॅलीबाॅल मैच में कक्षा 10 विजेता रही
  इसके अतिरिक्त कक्षा 1 से 5 तक विद्यार्थियों की मनोरंजनात्मक प्रतियोगिताएं जैसे लेमन डेªस मेढक रेस आदि  करवाई गई, टायनी टौडलर के नन्हें बच्चों को फिल्म दिखाई व एकल डांस की प्रतियोगिता हुई।  इस मौके पर अध्यापकों एवं विद्यार्थियों के बीच मनोरंजनात्मक बाॅलीवाल मैच भी हुआ। डाॅ. रामनाथ आर पोदार सभागार में स्कूली बच्चों को ज्ञानवर्द्धक मूवी दिखाई गई। विद्यार्थियों को पोदार हवेली म्यूजियम का भ्रमण कराया गया। प्रतियोगिताओं में बच्चों ने उत्साह से भाग लिया। 
इसी क्रम में पोदार एस.के.पी. टायनी टोडलर प्ले स्कूल में नन्हें-नन्हें बच्चों के चाचा नेहरू के जन्म दिवस पर केक काटकर बाल दिवस मनाया।स्टाफ सदस्यों द्वारा बच्चों को उपहार दिए गए।  सभी संस्थाओं में विद्यार्थियों के सर्वागीण विकास की गतिविधियों के विविध कार्यक्रम आयोजित किए गए। इस मौके पर संस्था प्रधानों ने बच्चों को चाचा नेहरू के जीवन पर प्रकाष डाला और भारत के नव निर्माण में उनके योगदान को याद किया साथ ही बालश्रम, बाल विवाह कानूनों व उनके दुष्प्रभावों  से अवगत कराया। इस बालदिवस का मुख्य उद्देष्य बच्चों को सभी अधिकार सहजता से दिलवाना और बच्चों को उनके अधिकारों की जानकारी देना था। वर्तमान समय में देश  के नौनिहालों के लिए माहौल भयावह और घृणित होता जा रहा है। आज के दिन हम सबको सुरक्षित बचपन-सुरक्षित भारत के निर्माण का संकल्प लेने की आवश्यकता  है।
पोदार ट्रस्ट के चेयरमैन कान्तिकुमार आर. पोदार व ट्रस्टी सुश्री वेदिका पोदार ने बाल दिवस पर बच्चों को बधाई एवं शुभकामनाएँ प्रेषित की। उन्होंने कहा कि बच्चें देश का भविष्य हैं इनकी शिक्षा  और इनके उज्ज्वल भविष्य के लिए सभी मिलकर कार्य करें तो देश   के नौनिहालों का बचपन सुरक्षित बन सकता है।



Share This