आयोजना समिति अब केवल नहीं लगाएगी 'ठप्पा'



खबर - अरुण मूंड 
वार्षिक बजट को लेकर सुंडा ने उठाया सवाल, तो तय हुआ सरकार को भेजा जाएगा एक प्रस्ताव, जिसमें कार्यों के प्रस्ताव लिए जाएंगे सदस्यों से भी
झुंझुनूं।झुंझुनूं जिला परिषद सभागार में बुधवार को जिला आयोजना समिति की बैठक हुई। जिसमें वित्तीय वर्ष 2018-19 में विभिन्न विभागों के कार्यों के लिए 1199 करोड़ 91 लाख 81 हजार रुपए का बजट पास किया गया। जिला प्रमुख सुमन रायला की अध्यक्षता में हुई बैठक में सदस्यों ने जब कार्यों की जानकारी अधिकारियों से मांगी तो बताया गया कि या तो विधायकों या फिर विभाग की अनुशंषा पर कार्य तय किए गए है। जिस पर आयोजना समिति के सदस्य दिनेश सुंडा ने फिर विरोध किया। उन्होंने कहा कि जब प्रस्तावों में ही आयोजना समिति के सदस्यों का लेना-देना नहीं होता। तो फिर इसके बजट प्रस्ताव पर खाली ठप्पा लगाने के लिए यह बैठक क्यों बुलाई जाती है? जिसका समर्थन इंजी. प्यारेलाल ढूकिया तथा ताराचंद गुप्ता ने भी किया। जिसके बाद इस बात पर सहमति बनी कि सरकार को प्रस्ताव भेजा जाएगा कि इस बजट को पास करने वाले सदस्यों के भी प्रस्ताव लिए जाए। ताकि वे भी अपने निर्वाचन क्षेत्र में विकास कार्य करवा सके। जिस पर सहमति बनी और यह प्रस्ताव भिजवाने का निर्णय लिया गया। इसके अलावा मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान के तीसरे चरण के कार्यों पर भी चर्चा की गई। लेकिन अधिकारी संतुष्टिपूर्ण जवाब नहीं दे पाए। बैठक की चर्चा में सदस्य इंजी. प्यारेलाल ढूकिया, ताराचंद गुप्ता, दिनेश सुंडा, राजेंद्र केड, बालूराम मीणा, सुमित्रा सरजीत चौधरी, इंदू शर्मा, राकेश शर्मा बगड़ आदि ने हिस्सा लिया। बैठक में सीईओ जेपी बुनकर, पीडब्लूडी के एसई अशोक गुप्ता, नगर परिषद आयुक्त विनयपालसिंह, नवलगढ़ ईओ अनिता खीचड़, मंडावा ईओ सरिता बड़सरा सहित अन्य विभागों के अधिकारी मौजूद थे।

Share This