नवीनतम



शनिवार, 1 जून 2024

 लोकसभा आम चुनाव- 2024 सफल एवं निष्पक्ष मतगणना के लिए तैयारियों को दिया गया अंतिम रूप

लोकसभा आम चुनाव- 2024 सफल एवं निष्पक्ष मतगणना के लिए तैयारियों को दिया गया अंतिम रूप


राजस्थान कॉलेज एवं कॉमर्स कॉलेज में होगी मतगणना प्रक्रिया - 315 टेबल पर होगी जयपुर एवं जयपुर ग्रामीण निर्वाचन क्षेत्रों के लिए मतगणना - जयपुर निर्वाचन क्षेत्र की 151 तो जयपुर ग्रामीण की 161 राउंड में होगी मतगणना

जयपुर। लोकसभा चुनाव के तहत मंगलवार, 04 जून, 2024 को सुबह 8 बजे से जेएलएन मार्ग स्थित कॉमर्स कॉलेज में जयपुर ग्रामीण लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र एवं राजस्थान कॉलेज में जयपुर लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र की मतगणना प्रक्रिया शुरू होगी।


उप जिला निर्वाचन अधिकारी नीलिमा तक्षक ने बताया कि मतगणना की आवश्यक व्यवस्थाएं एवं इंतजाम सुनिश्चित कर लिए गए हैं। जयपुर जिले के जयपुर निर्वाचन क्षेत्र एवं जयपुर ग्रामीण निर्वाचन क्षेत्र के लिए 218 टेबल पर 312 राउंड में 4 हजार 213 ईवीएम से एवं 97 टेबल पर डाक मतपत्र एवं ईटीपीबीएस से मतगणना होगी।


उन्होंने बताया कि कॉमर्स कॉलेज में जयपुर ग्रामीण लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र के लिए 106 टेबल पर 161 राउंड में 2 हजार 128 ईवीएम से एवं 50 टेबल पर डाक मतपत्र एवं ईटीपीबीएस से मतगणना होगी। तो वहीं, राजस्थान कॉलेज में जयपुर लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र के लिए 112 टेबल पर 151 राउंड में 2 हजार 85 ईवीएम से एवं 47 टेबल पर डाक मतपत्र एवं ईटीपीबीएस से मतगणना होगी।



कॉमर्स कॉलेज में जयपुर ग्रामीण लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र की मतगणना की यह रहेगी व्यवस्था—

जयपुर ग्रामीण लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र में समाहित झोटवाड़ा विधानसभा क्षेत्र के लिए कॉमर्स कॉलेज के प्रथम कॉन्फ्रेंस हॉल में 20 टेबल पर 22 राउंड में 435 ईवीएम से मतगणना होगी। फुलेरा विधानसभा क्षेत्र के लिए के सेमीनार हॉल में 12 टेबल पर 22 राउंड में 257 ईवीएम से मतगणना होगी। कोटपूतली विधानसभा क्षेत्र के लिए कमरा नंबर 38 में 12 टेबल पर 19 राउंड में 226 ईवीएम से मतगणना होगी। आमेर विधानसभा क्षेत्र के लिए द्वितीय कॉन्फ्रेंस हॉल में 14 टेबल पर 20 राउंड में 280 ईवीएम से मतगणना होगी।


तो वहीं, विराटनगर विधानसभा क्षेत्र के लिए कमरा नंबर 43 में 12 टेबल पर 19 राउंड में 226 ईवीएम से मतगणना होगी, जमवारामगढ़ विधानसभा क्षेत्र के लिए कमरा नंबर 49 में 12 टेबल पर 20 राउंड में 239 ईवीएम से मतगणना होगी, शाहपुरा विधानसभा क्षेत्र के लिए कमरा नंबर 16 में 12 टेबल पर 18 राउंड में 216 ईवीएम से मतगणना होगी, बानसूर विधानसभा क्षेत्र के लिए कमरा नंबर 5 में 12 टेबल पर 11 राउंड में 249 ईवीएम से मतगणना होगी, वहीं, कॉमर्स कॉलेज के लाइब्रेरी हॉल में 50 टेबिल पर जयपुर ग्रामीण लोकसभा क्षेत्र के डाकमत पत्रों एवं इलेक्ट्रॉनिक ट्रांसमिटेड पोस्टल बैलेट की गणना होगी


राजस्थान कॉलेज में जयपुर लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र की मतगणना की यह रहेगी व्यवस्था—

जयपुर लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र में समाहित बगरू विधानसभा क्षेत्र के लिए राजस्थान कॉलेज के प्रथम कॉन्फ्रेंस हॉल में 18 टेबल पर 20 राउंड में 351 ईवीएम से मतगणना होगी, किशनपोल विधानसभा क्षेत्र के लिए कमरा नंबर 34 में 12 टेबल पर 15 राउंड में 170 ईवीएम से मतगणना होगी, सांगानेर विधानसभा क्षेत्र के लिए द्वितीय कॉन्फ्रेंस हॉल में 18 टेबल पर 19 राउंड में 341 ईवीएम से मतगणना होगी, आदर्श नगर विधानसभा क्षेत्र के लिए कमरा नंबर 40 में 12 टेबल पर 21 राउंड में 249 ईवीएम से मतगणना होगी।


सिविल लाइंस विधानसभा क्षेत्र के लिए कमरा नंबर 46 में 12 टेबल पर 19 राउंड में 221 ईवीएम से मतगणना होगी, मालवीय नगर विधानसभा क्षेत्र के लिए राजस्थान कॉलेज के कमरा नंबर 48 में 12 टेबल पर 16 राउंड में 187 ईवीएम से मतगणना होगी, हवामहल विधानसभा क्षेत्र के लिए राजस्थान कॉलेज के कमरा नंबर 53 में 12 टेबल पर 20 राउंड में 240 ईवीएम से मतगणना होगी, विद्याधर नगर विधानसभा क्षेत्र के लिए कमरा नंबर 33 में 16 टेबल पर 21 राउंड में 326 ईवीएम से मतगणना होगी। तो वहीं, राजस्थान कॉलेज में 47 टेबल पर जयपुर लोकसभा क्षेत्र के डाकमत पत्रों एवं इलेक्ट्रॉनिक ट्रांसमिटेड पोस्टल बैलेट की गणना होगी।


मतगणना स्थल पर सभी प्रकोष्ठों के नियंत्रण कक्ष किये गए स्थापित—

उप जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि मतगणना स्थलों की सुरक्षा के लिए त्रि-स्तरीय सुरक्षा व्यवस्था की गई है। वहीं, मतगणना की संपूर्ण प्रक्रिया के सफल एवं निर्बाध संपादन के लिए राजस्थान कॉलेज एवं कॉमर्स कॉलेज में पर्यवेक्षक कक्ष, जिला निर्वाचन अधिकारी कक्ष, नियंत्रण कक्ष/कंप्यूटर, सांख्यिकी प्रकोष्ठ, मीडिया प्रकोष्ठ, पुलिस गार्ड, डीएसओ प्रकोष्ठ, कार्मिक प्रकोष्ठ, मतगणना स्टोर, सीसीटीवी एवं कंट्रोल रूम, डाक मतपत्र प्रकोष्ठ, ईटीपीबीएस स्कैनिंग कक्ष सहित अन्य प्रकोष्ठों के लिए भी नियंत्रण कक्षों की स्थापना की गई है।

कर्तव्य में लापरवाही पर बीकानेर सीएमएचओ एवं श्रीडूंगरगढ़ बीसीएमओ एपीओ

कर्तव्य में लापरवाही पर बीकानेर सीएमएचओ एवं श्रीडूंगरगढ़ बीसीएमओ एपीओ

 


जयपुर। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग ने कर्तव्य में लापरवाही बरतने पर बीकानेर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी तथा ब्लॉक मुख्य चिकित्सा अधिकारी, श्रीडूंगरगढ़ को तत्काल प्रभाव से एपीओ कर दिया है। शुक्रवार को शासन सचिवालय में आयोजित विभिन्न विभागों की समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री श्री भजनलाल शर्मा ने दोनों अधिकारियों को एपीओ किए जाने के निर्देश दिए थे। 


चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव  शुभ्रा सिंह ने बताया कि जिला प्रभारी सचिव के दौरे के दौरान बीकानेर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मोहित सिंह तंवर अनुपस्थित थे। इसी प्रकार श्रीडूंगरगढ़ के बीसीएमओ डॉ. जसवंत सिंह द्वारा कर्तव्य में लापरवाही सामने आई थी। 


मुख्यमंत्री ने दोनों अधिकारियों को तत्काल प्रभाव से एपीओ करने के निर्देश दिए थे। इसके बाद चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग ने दोनों अधिकारियों को एपीओ करते हुए उनका मुख्यालय, निदेशालय, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवाएं, जयपुर किया है। 


प्रभारी सचिवों की रिपोर्ट पर नदबई पीएमओ एपीओ व  कोटपूतली पीएमओ को हटाया

निदेशक जनस्वास्थ्य डॉ. रवि प्रकाश माथुर ने बताया कि जिला प्रभारी सचिव, कोटपूतली एवं जिला प्रभावी सचिव, भरतपुर की भ्रमण रिपोर्ट के आधार पर कोटपूतली पीएमओ डॉ. सुमन यादव को हटाकर उनके स्थान पर डॉ. चैतन्य रावत को पीएमओ लगाया गया है। साथ ही, नदबई पीएमओ डॉ. मनीष चौधरी को एपीओ किया गया है। 

 मिलावट के खिलाफ राजस्थान का सफल अभियान एन्फोर्समेंट सैम्पल लेने में देश में प्रथम पायदान पर

मिलावट के खिलाफ राजस्थान का सफल अभियान एन्फोर्समेंट सैम्पल लेने में देश में प्रथम पायदान पर


जयपुर। राजस्थान ने खाद्य पदार्थों में मिलावट रोकने के लिए एन्फोर्समेंट सैम्पल लेने में देश में प्रथम स्थान प्राप्त किया है। भारतीय खाद्य सुरक्षा एवं मानक प्राधिकरण, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा निर्धारित लक्ष्यों के मुकाबले राजस्थान ने करीब 3 गुना सैम्पल एकत्र कर यह उपलब्धि हासिल की है।

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव  शुभ्रा सिंह ने बताया कि प्रदेश में खाद्य पदार्थों में मिलावट के खिलाफ निरन्तर सघन अभियान चलाया जा रहा है। मिलावट के खिलाफ विभाग लगातार कार्रवाई कर सख्त एक्शन ले रहा है। भारतीय खाद्य सुरक्षा एवं मानक प्राधिकरण की ओर से वर्ष 2023-24 के लिए जारी आंकड़ों में राजस्थान ने निर्धारित लक्ष्य से अधिक सैम्पल लेते हुए 284 प्रतिशत उपलब्धि हासिल की है। प्राधिकरण ने मिलावट के खिलाफ प्रदेश की इस प्रो-एक्टिव अप्रोच को सराहा है।

खाद्य सुरक्षा आयुक्त  इकबाल खान ने बताया कि भारतीय खाद्य सुरक्षा एवं मानक प्राधिकरण ने वर्ष 2023-24 में प्रत्येक खाद्य सुरक्षा अधिकारी के लिए हर माह 5 एन्फोर्समेंट सैम्पल लिए जाने का लक्ष्य निर्धारित किया था। राजस्थान में 98 खाद्य सुरक्षा अधिकारियों के अनुसार यह लक्ष्य 5 हजार 880 सैम्पल का था, जिसके विरूद्ध राजस्थान में 16 हजार 691 सैम्पल लिए गए। इस दृष्टि से राजस्थान देश में पहले पायदान पर रहा है।

इकबाल खान ने बताया कि प्रदेश में जल्द ही 200 और खाद्य सुरक्षा अधिकारियों की भर्ती प्रक्रिया पूर्ण होने से मिलावट के खिलाफ अभियान को गति मिलेगी एवं आमजन को शुद्ध पदार्थों की आपूर्ति सुनिश्चित होगी।