नवीनतम



 डीपीएस की छात्रा हैप्पी कुमारी का चैलेंजर क्रिकेट ट्राॅफी के लिए चयन

डीपीएस की छात्रा हैप्पी कुमारी का चैलेंजर क्रिकेट ट्राॅफी के लिए चयन


झुंझुनूँ
- झुंझुनूँ स्थित ‘‘डूण्डलोद पब्लिक स्कूल‘‘ की छात्रा हैप्पी कुमारी, कक्षा 10वीं का क्रिकेट में उत्कृष्ट प्रदर्शन के आधार पर चैलेंजर ट्राॅफी के लिए चयन हुआ है। प्राचार्य डाॅ सतबीर सिंह ने बताया कि हैप्पी कुमारी बचपन से ही पढ़ाई एवं खेल में अव्वल रही है। अब उसकी मेहनत व लगन रंग लाई है कि उसका चयन राज्य स्तरीय महिला सीनियर टी-20 चैलंेजर ट्राॅफी के लिए हुआ है जो कि राजस्थान सीनियर महिला क्रिकेट टीम के चयन के लिए अंतिम पड़ाव है। संस्था सचिव श्री बी.एल. रणवाँ एवं स्कूल स्टाफ ने हैप्पी कुमारी के चयन पर अत्यन्त खुशी जाहिर की एवं उसको 24 - 26 सितम्बर की अवधि में जयपुर में होने वाले मुकाबलों के लिए शुभकामनाएँ एवं आशीर्वाद दिया। 


 बी. कॉम. फाइनल में पोदार कॉलेज के विद्यार्थियों का रहा शानदार परीक्षा परिणाम

बी. कॉम. फाइनल में पोदार कॉलेज के विद्यार्थियों का रहा शानदार परीक्षा परिणाम



नवलगढ़
-दी आनन्दीलाल पोदार ट्रस्ट के अंतर्गत संचालित पोदार कॉलेज के वाणिज्य के विद्यार्थियों का परीक्षा परिणाम शानदार रहा। बी. कॉम. फाइनल में विद्यार्थियों ने नवलगढ़ में फिर से कीर्तिमान स्थापित किया है। इस उपलक्ष्य में विद्यार्थियों का महाविद्यालय में सम्मान किया गया। शेखावाटी विश्वविद्यालय के परीक्षा परिणाम में महाविद्यालय स्तर पर नन्दिता ने 71ः अंक लाकर प्रथम स्थान, दृष्टि शर्मा ने 70ः अंक लाकर द्वितीय तथा नन्दिनी शर्मा ने 69ः अंक लाकर तृतीय स्थान पाकर महाविद्यालय का नाम गौरवान्वित किया है।


दी आनन्दीलाल पोदार ट्रस्ट के चेयरमैन श्री राजीव के पोदार ट्रस्टी सुश्री वेदिका पोदार निदेशक श्री एम.डी. शानभाग, सलाहकार डॉ. रामगोपाल शर्मा, पोदार कॉलेज के प्राचार्य डॉ. सत्येन्द्र सिंह, उप प्राचार्य डॉ. विनोद कुमार सैनी वाणिज्य विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ. संजय सैनी, एवं समस्त व्याख्यागणों ने विद्यार्थियों को बधाई दी।

  'आपातकाल में जीवन का  आधार प्राथमिक उपचार'

'आपातकाल में जीवन का आधार प्राथमिक उपचार'


डूण्डलोद
-आज डूण्डलोद पब्लिक स्कूल में प्राथमिक उपचार का महत्त्व समझाने और जागरूकता लाने के लिए विश्व प्राथमिक चिकित्सा दिवस मनाया गया। इस अवसर पर लघु नाटिका का मंचन शिक्षिका शर्मिला तथा अंजू के निर्देशन में किया गया जिसमें विद्यार्थियों ने समझाया कि घर और गाड़ी में अपने साथ हमेशा प्राथमिक उपचार किट रखें । विद्यार्थियों ने वाहन चलाते समय हेलमेट और सीट बेल्ट की अनिवार्यता पर प्रकाश डाला यह भी कहा गया की पिछली सीट में बैठने पर भी सीट बेल्ट बांधने चाहिए तथा हेलमेट का उपयोग करना चाहिए क्योंकि यह हमारी जीवन रक्षा के लिए आवश्यक है सड़क दुर्घटना में अधिकांश लोगों की मृत्यु इसी कारण से होती है ।डूबने, जलने, सड़क दुर्घटना, हृदयाघात और आत्मघात में प्राथमिक उपचार से जान बचाई जा सकती है।

 प्रधानाचार्य जी. प्रकाश ने कहा कि चाहे हादसा हो या कोई बीमारी जिंदगी और मौत से जूझते व्यक्ति को समय पर प्राथमिक उपचार मिल जाए तो उसकी जान बच सकती है। भारत सहित तमाम देशों में इसको लेकर लोग जागरूक हो  रहे हैं और आपात स्थिति में समय पर प्राथमिक उपचार प्रदान कर जीवन रक्षा कर रहे हैं इसलिए इसकी जानकारी और प्रचार-प्रसार होना आवश्यक है । जिससे आपातस्थिति में मौके पर ही प्राथमिक चिकित्सा प्रदान की जा सके।

 अंत में शिक्षिका सरिता निर्वाण ने प्रथम विश्व प्राथमिक उपचार दिवस के महत्त्व के बारे में प्रकाश डाला। इस अवसर पर सचिव बीएल रणवा ने कहा  कि हमें हर व्यक्ति को प्राथमिक उपचार के लिए शिक्षित करना चाहिए इस अवसर पर प्राथमिक प्रभारी सुमन लता, भावना शर्मा , काउंसिलर शशि उपस्थिति थी।