सूरजगढ़ -फरट सड़क के डामरीकरण कार्य को लेकर विवाद

खबर - पवन शर्मा 
स्थानीय लोगो ने घटिया सामग्री की बात कह रुकवाया कार्य
सूरजगढ़ । उपखंड मुख्यालय से फरट ग्राम पंचायत तक  60 लाख रुपये की लागत से हो रहे सड़क के नवीनीकरण कार्य में धांधली व घटिया निर्माण की शिकायत सामने आने के बाद शुक्रवार को फरट ,बिजौली व सूरजगढ़ के ,गामीणो ने सड़क के निर्माण कार्य को बंद कर विरोध जताया। नविन शेखावत ,प्रमोद सैनी ,रामपाल सिंह की अगुवाई में विरोध जता रहे लोगो ने सूरजगढ़ से फरट तक बनाई जा रही इस सड़क के निर्माण कार्य में घटिया सामग्री लगाई जा रही है इसके साथ ही सड़क बिना किसी गुणवता के साथ मिटटी पर हल्की डामर डालकर पतली चदर बिछा कर बनाई जा रही जो जल्द ही उखड जाएगी। इस सड़क पर मात्र ब्रेक लगाने से ही यह उखड रही तो इसका लंबा चलना मुश्किल है। उन्होंने उच्च क्वालिटी की सामग्री व गुणवता पूर्वक सड़क निर्माण की सहमती दी इसके साथ साथ ग्रामीणों ने ठेकदार व पीडब्ल्यूडी के अधिकारियो पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए। उन्होंने कहा की इस तरह से सड़क का निर्माण कर ठेकदार व विभाग के अधिकारी सरकार व जनता दोनों  चुना लगा कर   अपनी जेबे भरने में लगे है। वही ग्रामीणों द्वारा सड़क कार्य को रोकने की सुचना के बाद पीडब्ल्यूडी के सहायक अभियंता बुधराम मीणा और कनिष्ठ अभियंता विजेंद्र सिंह भी मौके पर आये और ग्रामीणों की समझाहिश का प्रयास किया। इस मौके पर विजेंद्र सिंह ,नसीब ,संदीप चाहर सहित  ग्रामीण मौजूद थे। 

इनका कहना है 
सूरजगढ़ से फरट तक चार किमी चार सौ मीटर की सड़क राज्य सड़क निधि योजना से साठ लाख रूपये की लागत से हो रही है। इसके निर्माण में किसी प्रकार की धांधली नहीं है यह गुणवता के साथ 20 एमएम की मोटाई के साथ ही बनाई जा रही है। 
बुधराम मीणा ,सहायक अभियंता पीडब्ल्यूडी विभाग पिलानी। 

Share This