मूक रामलीला का एक दिवसीय एतिहसिक आयोजन

खबर - मनोज मिश्रा 
181 वर्षीय मूक लीला को वेलफेयर ट्रस्ट द्वारा राष्ट्रीय धरोहर बनाने का उद्ष्य
बिसाऊः-...कस्बे की एतिहासिक धरोहर मूक रामलीला जो विष्व प्रसिद्ध है जो दिन मे मंचित होती है। इस रामलीला की शुरुआत  एक साध्वी द्वारा की गई जिसने छोटे छोटे बच्चो के मुखोटे लगाकर लीला कि। धिरे धीरे विस्तार होते होते इस का भव्य रूप बनगया है। लाखो की लागत से यह मंचित हो रही है। वर्तमान मे बिसाऊ वेलफेयर ट्रस्ट द्वारा बाड संचालित हो रहा है। इसके महासचिव कमल पौद्दार है तो अध्यक्ष अरूण बजाज एवं कोषाध्यक्ष विजय जागिंड है। लीला का प्रथम वार्षिकोत्सव 6 सितम्बर को बडी धूम धाम से किया जारहा हे। इस का षुभारंभ कस्बे के सन्त बाबा बर्फानी के कर कमलो से किया गया। महासचिव पौद्दार ने जानकारी दी कि आयोजन मे 300 प्रवासी 300से अधिक अतिथि होगे। लीला मंचन मे 165 कलाकार,रामलीला के किरदारो की प्रस्तुतियां निभायेगे। 6 घण्टे तक कार्यक्रम चला। कार्यक्रम की कवरेज दूरदर्षन करेगा। पौद्दार ने कहा कि मंत्री राजकुमार रीणवा एवं अरूण चतुरर्वेदी भी आमंत्रित है। वेलफेयर ट्रस्ट का मूल उद्ष्य है  िकइस मूक रामलीला को साकार द्वारा राष्ट्रीय धरोहर की मान्यता दी जाये और बिसाऊ को हेरी टेज का स्थान दिया जाये ताकि कस्बे का विकास हो सके।

Share This