सुप्रीम कोर्ट के आदेशों की पालना करने में प्रशासन नाकाम

खबर -विकास कनवा 
उदयपुरवाटी। विधानसभा क्षेत्र के आधा दर्जन गांवों में सुप्रीम कोर्ट की रोक के बावजूद भी चल रहा है बजरी अवैध खनन। सुप्रीम कोर्ट के आदेशों की पालना करने में प्रशासन नाकाम। सुप्रीम कोर्ट के द्वारा बजरी परिवहन पर रोक के बावजूद भी क्षेत्र में बजरी खनन परिवहन नहीं रुक रहा है शाम होते ही बजरी से भरे ओवरलोड डंपर टैक्टर ट्रॉलियां चलना शुरू हो जाती है। वही कभी कबार दिनदहाड़े उपखंड कार्यालय के सामने से बजरी के भरें ट्रैक्टर ट्रॉली और डंफर निकलते हैं। सुप्रीम कोर्ट के द्वारा बजरी खनन रोक के बाद बजरी के दाम आसमान छू रहे हैं। बजरी से भरा एक डंपर 20 से 25 हजार का बिकता है। प्रशासन के द्वारा कोई प्रभावी कार्यवाही नहीं की जाने से बेरोकटोक शाम होते ही बजरी परिवहन किया जाता है। प्रशासन के द्वारा कार्रवाई नहीं की जाने से क्या अनुमान लगाया जा सकता है। यह आप सब जानते हैं। ट्रैक्टर-ट्रॉलियों डंपर सहित  बजरी से भरे वाहन देर रात को सैकड़ों गुजरते हैं। 90 फ़ीसदी बजरी खनन देर रात को अंधेरे में होता है। बजरी खनन का यह अवैध कारोबार अलसुबह तक रहता है। उदयपुरवाटी से राजसमाचार के रिपोर्टर ने किया बजरी खनन बजरी परिवहन को कैमरे में कैद में कर रखा जनता की आखों के सामने उदयपुरवाटी से विकास कनवा की खास रिपोर्ट

Share This