कांग्रेस का षड्यंत्रकारी चेहरा आया देश के सामने :- सांसद संतोष अहलावत

खबर - पवन शर्मा 
सूरजगढ़ । सीबीआई के विशेष जज बृजगोपाल लोया के केश पर गुरुवार को आए सुप्रीम कोर्ट ने फैसला दिया है जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट के फैसले ने कांग्रेस और उनके सहयोगियों की पोल खोल के रख दी है। फैसले के बाद सांसद संतोष अहलावत ने विपक्षी दल कांग्रेस के साथ उसके सहयोगियों पर भी तीखा हमला बोला। सांसद संतोष अहलावत ने प्रेस वार्ता कर कहा की सुप्रीम कोर्ट ने जज लोया की मौत को प्राकृतिक मौत बताते हुए इसके लिए दायर की गई पिल (याचिका ) को ख़ारिज करते हुआ कहा की यह याचिका राजनैतिक बदले की भावना से दाखिल की गई थी। यह एक षड्यंत्रकारी याचिका थी जिसके पीछे अदृश्य हाथ है जो राजनैतिक कारणों से प्रेरित है। इन याचिकाकर्ताओं द्वारा देश की न्याय व्यवस्था खासकर सर्वोच्च न्यायालय को बदनाम करने का षड्यंत्र है जो दुर्भाग्य पूर्ण है। सांसद संतोष अहलावत ने कहा कि राहुल गाँधी ने इस विषय पर प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी और 150 सांसदों के साथ राष्ट्रपति के पास जाकर गुहार लगाकर राजनैतिक ढोंग किया। वही कांग्रेस ने बार बार भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के खिलाफ षड्यंत्र कर उन्हें अपमानित कर राजनितिक रूप से उनका कैरियर समाप्त करने का प्रयास किया लेकिन भारत की न्याय व्यवस्था ने सत्य को सबके सामने रखा है इससे सत्य की जीत हुई है। सांसद ने गाँधी परिवार पर कटाक्ष करते हुए कहा कि गाँधी परिवार को लगता है कि देश के शाशन की बागडोर उन्ही के हाथो में रहनी चाहिए ,यदि कोई गरीब या पिछड़ा देश की सेवा करना चाहता है तो उसके खिलाफ राजनैतिक षड्यंत्र कर उसे समाप्त करने की साजिश रचते है। वही कुछ अधिवक्ताओं ने अपने पेशे की मर्यादा को ध्यान में न रखते हुए कोर्ट में जिस तरह का आचरण दिखाया है वो निंदनीय के साथ साथ अशोभनीय भी है। 

देश से माफ़ी मांगे राहुल
सांसद संतोष अहलावत ने कहा कि राहुल गाँधी और उनके सहयोगियों ने ओछी मानसिकता व निम्न स्तर की राजनितिक कर षड्यंत्र करते हुए देश में माहौल बिगाड़ने का कार्य करते हुए भारतीय न्याय प्रणाली की विश्वनीयता को धूमिल करने की साजिश रची है इसके लिए उन्हें देश से माफ़ी मांगनी चाहिए। अहलावत ने कहा कि वे धरातल पर राजनीती करने में असमर्थ रहे है इसलिए वे कोर्ट प्रांगण में जो राजनीती करने का प्रयास कर रहे है उसका सर्वोच्च न्यायालय ने भंडाफोड़ कर दिया है।    

मासूमो के साथ घिनोने अपराधों पर हो कड़ी सजा का प्रावधान 
देश में वर्तमान समय में छोटी छोटी बच्चियों के साथ हो रहे घिनोने अपराधों पर भी प्रतिक्रिया देते हुए सांसद संतोष अहलावत ने कहा की उन्हें ये सोचते ही ये शर्म आती है की आज हमारे समाज कुछ लोग कितनी घटिया मानसिक सोच रखते हुए कैसे कैसे घिनोने कार्य कर रहे है छोटे छोटे बच्चो के साथ भी कैसे कैसे घिनोने कृत्यों को अंजाम देते हुए उनकी निर्मम तरीके से हत्या करने में भी नहीं चूक रहे है। उन्होंने कहा अपराधी की कोई जात व धर्म नहीं होता है ऐसे घिनौने कृत्य करने वालो को समाज से बहिष्कृत कर उनके खिलाफ कड़े कानून लाकर कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए जिससे ऐसे अपराधों को अंजाम देने से पहले वो हजार बार सोचे।   

Share This