प्रदेश में गर्मी ने लोगों को झुलसाया

खबर - प्रशांत गौड़  
जयपुर,।  प्रदेश में एक बार फिर तेज गर्मी ने लोगों को झुलसा दिया है। रेगिस्तानी इलाको में सुरज आग उगल रहा है। दोपहर के समय सड़कों पर सन्नाटा दिखाई दे रहा है जरुरी काम से आने जाने वाले लोग मुंह में नकाब व हाथों में दस्ताने पहनकर घरों से बाहर निकल रहे है। लू के थपेडों से लोग परेशान है। गर्मी के इस मौसम में बिजली की अघोषित कटौती कोढ में खाज का काम कर रही है। चूरू, बाड़मेर पिलानी में तापमान 45 डिग्री को छू गया। 
मई माह में ही गर्मी ने लोगों का हाल बेहाल कर रखा है ऐसे में आने वाले दिनों में हालात क्या होंगे इसको लेकर लोग ससंकित है। सुबह से ही सूर्य की तीखी किरणें निकल रही है जैसे जैसे दिन चढता है सूर्य की तपिश और तीखी होती जाती है। यही वजह है कि दोपहर के समय सडकों में कफ्र्यू जैसा नजारा दिखाई दे रहा है। उमस भरी गर्मी के साथ गर्म हवाये लोगों को नस्तर की तरह चुभ रही है। हालात यह है कि दुकानदार अपने प्रतिष्ठान दोपहर के समय बन्द करने को मजबूर है। जरुरी काम से आने जाने वाले लोग हाथों में दस्ताने व मुंह में नकाब पहनकर ही घरों से बाहर निकल रहे है। अभी गत दिनों मौसमी उठापटक के कारण तामपान में गिरावट दर्ज की गई थी लेकिन एक बार फिर सूरज जलाने लगा है।
गर्मी के इस मौसम ने आम और खाश सभी को परेशान कर रखा है। शीतल पेय पदार्थो की दुकानों मे लोगों की भीड दिखाई दे रही है तो आने जाने वाले लोग पेडों की छांव तलाशते नजर आ रहे है। भीषण गर्मी के चलते इंसान ही नही पशु पक्षी भी बेहाल हैं। गर्मी का सबसे ज्यादा असर गरीबों पर पड रहा है। मेहनत मजदूरी करके प्रतिदिन दो वक्त की रोटी की जुगाड करने वाले गरीब परिवार भी भीषण गर्मी व सूर्य की तपिश के चलते काम पर नही जा पा रहे है।
कुछ राहत: राजधानी जयपुर में दोपहर बाद शाम के समय अचानक मौसम पलटा। आसमान में बादल छाने और तेज हवाएं चलने से लोगों ने गर्मी से कुछ राहत ली तो दिन के समय धूलभरी हवाएं भी चली हालांकि उमस के कारण लोगों का जीना मुहाल है। अलवर, भरतपुर में भी तेज हवाएं चली है। जयपुर में तापमान 42.4 तो अजमेर में 42.5 दर्ज हुआ। श्री गंगानगर में आशिंक राहत मिली। धूलभरी हवाएं चलने के बाद दोपहर बाद तामपान 38.7 डिग्री दर्ज हुआ।

Share This