बीदासर पैट्रोल पंप के मुनीम से हुई लाखों रूपये की लुट के आरोप में दो आरोपी गिरफ्तार

खबर - राजकुमार चोटिया 
सुजानगढ़ - बीदासर कस्बे के डालमचन्द एण्ड कंम्पनी पेट्रोल पंप के मुनिम के साथ 7 मई की सुबह अपने घर से पेट्रोल पंप खोलने के लिए जाते समय व्यस्तम सीकर नोखा मार्ग पर दो नकाबपोश लुटेरों द्वारा आँखो मे मिर्ची का पाउडर डाल कर 15 लाख रूपये लुट ले जाने के मामले में शुक्रवार को बीदासर पुलिस ने खुलासा करते हुये दो आरोपियों को बापर्दा गिरफ्तार किया है। जिला पुलिस अधिक्षक राहुल बारहठ ने बताया कि उक्त लुट के पश्चात एएसपी सतनाम सिंह, सीओ सुखविन्द्र पाल सिंह के निर्देशन मे कई टीमे गठित कर लुटेरों की तलाश मे लगाई थी। बीदासर थानाधिकारी ईश्वरानन्द शर्मा के नेतृत्व में गठित टीमों ने अभियुक्तो को नामजद कर उनका लगातार 11 दिनों तक पीछा किया तथा लक्ष्मणगढ, सीकर, जयपुर, अहमदाबाद, सुरत, मुम्बई, बड़ोदरा, मोरवी, जैसलमेर, पोकरण, फ लौदी, बीकानेर सहित अनेक शहरों में लगातार पीछा कर सुराग जुटाये। गुरूवार की रात्रि में मोटर साईकल पर सवार होकर बीकानेर से श्रीडुगंरगढ की तरफ  आते हुये गांव गुंसाईसर के पास सरदारशहर सीआई पुष्पेन्द्र झाझडिया ने अपनी टीम के साथ नाकाबंदी कर दोनो लुटेरो बीदासर कस्बे के वार्ड नं. 25 के महेन्द्र जाट तथा गांव जोगलिया निवासी नरेश उर्फ  नरिया को घेराबंदी कर दबोच लिया। अतिरिक्त पुलिस अधिक्षक सतनाम सिंह ने बताया कि पुलिस द्वारा गठित टीम लगातार आरोपियों के ठिकानों पर दबिश दे रही थी तथा संदिग्ध अभियुक्तो की तलाश मे जुटी हुई थी। आरोपित महेन्द्र जाट व नरेश उर्फ  नरिया लगातार 11 दिनों से पुलिस को छकाते हुये आगे भागते रहे, परन्तु पुलिस टीम ने पीछा नही छोड़ा। आरोपित लगातार अपना ठिकाना बदलते रहे। परन्तु बीदासर सीआई ईश्वरानन्द शर्मा व छापर थानाधिकारी रामनारायण चोयल, एचसी भागीरथ राम की टीम ने लगातार 11 दिनों तक बिना रूके आरोपितो के पीछा करती रही। आरोपित एक शहर से दूसरे शहर भागते रहे, पुलिस ने भी जुनुन से उनका पीछा कर आरोपितो को दबोचकर ही दम लिया। लुट की घटना के बाद एएसपी व सीओ ने भी लगातार 11 दिनों तक पुलिस थाने में डेरा डाल कर पुलिस टीमों का मार्गदर्शन किया व दिशा निर्देश देते रहे। थाने के अन्य मुलाजमानो की टीम व साईबर टीम के लीलाधर, योगेश कुमार, सुरेन्द्र कुमार ने भी लगातार आरोपितों को दबोचने में सहयोग किया। एएसपी ने बताया कि लुट की घटना से पहले दोनो आरोपितों ने एक दिन पहले रैकी की तथा दूसरे दिन घटना को अंजाम देकर मोटर साईकल से जोगलिया गांव की तरफ  चले गये तथा मोटर साईकल को एक खेत मे पटक दी तथा एक साथी की मदद लेकर मोटर साईकल से मुकंदगढ पहुँच गये। वहां से बसों मे एक स्थान से दूसरे स्थान भागते रहे। वही आरोपित बीकानेर पंहूचने के बाद पुरानी मोटर साईकल खरीद कर रवाना हुये तो श्रीडुंगरगढ मार्ग पर गुंसार्ईसर के पास पुलिस ने उन्हे दबोच लिया। 

यह था मामला:- एचपी पेट्रोल पंप के मुनीम ७ मईकी सुबह जगदीश तिवारी पिता तथा महेंद्र तिवारी पुत्र अपने घर से सुबह 7.20 बजे पेट्रोल पंप के लिए रुपयो से भरे दो थेले पेट्रोल पंप की चाबियां व बही खाते लेकर बाइक से रवाना हुए की अचानक पीछे से आ रही बाइक पर दो नकाब पोस बाइक सवार लुटेरो ने मुक्ति धाम के पास चलती बाइक पर ही आंखों में मिर्चीं का पाउडर डाल कर १५ लाख रुपयो से भरा बैग छीन कर ले गये थे। उसी दिन मुनीम ने अज्ञात लुटेरो के खिलाफ  मामला दर्ज करवाया था।

आरोपितो को न्यायालय मे किया पेश
सीआई ईश्वरानन्द ने बताया कि गुरूवार की रात्रि मे गिरफ्तार किये गये दोनो आरोपितो को बापर्दा सुजानगढ न्यायालय मे पेश करने पर न्यायालय ने शिनाख्त परैड हेतु रतनगढ जैल भिजवा दिया। सीआई शर्माने बताया कि शिनाख्त परैड होने के बाद आरोपितो को रिमाड पर लेकर बरामदगी की कार्यवाही की जायेगी।

Share This