दूदू में 25 करोड़ की लागत से बनेगी काउ मिल्क प्रोसेसिंग यूनिट

खबर - विकास कनवा 
राज्य में डेयरी विकास पर 70.89 करोड़ का होगा व्यय
राज्य स्तरीय समिति ने दी स्वीकृत
 जयपुर। गोपालन मंत्री  अजय सिंह किलक ने सोमवार को बताया कि प्रदेश के पशुपालकों के आर्थिक उन्नयन के लिये डेयरी विकास पर 70.89 करोड़ रुपये खर्च किये जायेंगे। जिसमें पाली, श्री गंगानगर, नागौर, कोटा, जयपुर, भीलवाड़ा, जोधपुर एवं बाड़मेर डेयरी प्लाण्ट शामिल हैं। उन्होंने बताया कि डेयरी प्लाण्ट के आधारभूत एवं तकनीकी विकास के जरिये डेयरी को बढ़ावा दिया जा रहा है।

दूदू (जयपुर) में काउ मिल्क प्रोसेसिंग यूनिट

 श्री किलक ने बताया कि राष्ट्रीय कृषि विकास योजना के तहत राज्य के डेयरी विकास में मिलने वाली सहायता से डेयरी उद्योग के माध्यम से पशुपालकों की आय में वृद्धि का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि डेयरी प्लाण्ट एवं प्रासेसिंग यूनिट के सुदृढ़ीकरण से दुग्ध उत्पादों की गुणवत्ता में बढ़ोतरी होगी एवं विपणन सुविधाओं के विकास से डेयरी उत्पादों की आमजन तक पहुंच बढेगी। इसका सीधा फायदा पशुपालकों को मिलेगा। उन्होंने बताया कि जयपुर के दूदू में गाय दूध के लिये प्रासेसिंग यूनिट लगाई जायेगी जिस पर लगभग 25 करोड़ रुपये खर्च होंगे।

8 डेयरी प्लाण्टस् का 70.89 करोड़ से आधारभूत विकास

 अतिरिक्त मुख्य सचिव, गोपालन श्री खेम राज ने बताया कि डेयरी विकास से जुड़े 70.89 करोड़ रुपये के इन सभी प्रोजेक्टस् को मुख्य सचिव की अध्यक्षता वाली राज्य स्तरीय कमेटी (एसएलएससी) ने मंजूरी दे दी है। उन्होंने बताया कि जिसमें आधारभूत ढ़ांचे के सुदृढ़ीकरण के लिये डेयरी प्लाण्ट पाली में 5.99 करोड़, गंगानगर में 3.33 करोड़, नागौर में 3 करोड़, जोधपुर में 5.60 करोड़, बाड़मेर में 12.89 करोड़ एवं कोटा में 2.28 करोड़ रुपये प्रोजेक्ट पर खर्च किये जायेंगे। इसी प्रकार भीलवाड़ा में डेयरी विकास के विशेष कार्यक्रम पर 12.80 करोड़ खर्च किये जायेंगे तथा गाय के दूध उत्पादन को बढ़ावा देने के लिये दूध खरीद, प्रसंस्करण एवं पैकेजिंग के लिये जयपुर डेयरी के तहत दूदू में आधारभूत ढ़ांचे के विकास पर 24.98 करोड़ रुपये खर्च होंगे।

पहले वर्ष खर्च होंगे 26.13 करोड़

 उन्होंने बताया कि वर्ष 2018-19 में 26.13 करोड़ रुपये खर्च होंगे जिसमें आधारभूत ढ़ांचे के सुदृढ़ीकरण के लिये डेयरी प्लाण्ट पाली में 2.99 करोड़, गंगानगर में 1.03 करोड़, नागौर में 0.80 करोड़, जोधपुर में 1.13 करोड़, बाड़मेर में 3.32 करोड़ एवं कोटा में 1.14 करोड़ रुपये प्रोजेक्ट पर खर्च किये जायेंगे। इसी प्रकार भीलवाड़ा में डेयरी विकास के विशेष कार्यक्रम पर 3.20 करोड़ खर्च किये जायेंगे तथा गाय के दूध उत्पादन को बढ़ावा देने के लिये जयपुर डेयरी के तहत दूदू में आधारभूत ढ़ांचे के विकास पर 12.49 करोड़ रुपये खर्च होंगे।

Share This