भारतीय संस्कृति का अनुसरण करने से स्वच्छता स्वतः ही हमारे जीवन में आ जाएगी: डाड

खबर - पंकज पोरवाल 
फील्ड आउटरीच ब्यूरो का स्वच्छता पर जनजागरूकता कार्यक्रम सम्पन्न
भीलवाडा । सूचना और प्रसारण मंत्रालय की मीडिया इकाई फील्ड आउटरीच ब्यूरो अजमेर की ओर से स्वच्छ भारत अभियान पर भीलवाड़ा शहर में  चलाए जा रहे विशेष जागरूकता कार्यक्रम शुक्रवार को संपन्न हो गए। शुक्रवार को एस टेक विद्यालय में विशेष जन जागरूकता कार्यक्रम आयोजित हुआ। कार्यक्रम में स्वच्छ भारत अभियान के तहत स्वच्छता ही सेवा थीम पर विभिन्न वक्ताओं ने स्वच्छता का संदेश दिया। इसके साथ साथ राष्ट्रीय पोषण अभियान के बारे में भी विद्यार्थियों को जानकारी दी गई। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि यूआईटी के पूर्व अध्यक्ष लक्ष्मीनारायण डाड ने कहा कि स्वच्छता हमारी परम्परा और पहचान है। उन्होंने  भारतीय संस्कृति का अनुसरण करने का आह्वान करते हुए कहा कि इसके माध्यम से स्वच्छता स्वतः ही हमारे जीवन में आ जाएगी। कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि  विवेकानंद केंद्र के राजस्थान प्रांत प्रमुख भगवान सिंह ने स्वामी विवेकानंद से जुड़ी कई कहानियों के माध्यम से विद्यार्थियों को स्वच्छता का संदेश दिया। उन्होंने कहा कि बचपन से ही स्वच्छता का संस्कार बच्चों में डालने की आवश्यकता है। जिला स्वच्छता प्रबंधक दिनेश चैधरी ने विद्यार्थियों को कचरा निस्तारण और प्रबंधन के बारे में विस्तार से जानकारी दी। इस दौरान जिला प्रजनन तथा शिशु स्वास्थ्य अधिकारी डॉक्टर सीपी गोस्वामी ने युवाओं को राष्ट्रीय पोषण मिशन और हाथ की सफाई के साथ खुद की स्वच्छता के बारे में बताया। क्षेत्रीय प्रचार अधिकारी मुरारी गुप्ता ने बताया कि समारोह में एनएसएस के कार्यक्रम अधिकारी सावन जांगिड़ए एस टेक बीएसटीसी कॉलेज की चेयरपर्सन मानकंवर तोतला और केसी तोतला तथा प्रधानाचार्य ऋतु भी मौजूद थी। कार्यक्रम में विभिन्न प्रतियोगिता में सहभागी विद्यार्थियों को पुरस्कृत किया गया। इससे पहले गीत और नाटक विभाग के कलाकारों तथा विद्यालय की बालिकाओं ने स्वच्छता के साथ राष्ट्रीय एकता और बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ थीम पर सांस्कृतिक प्रस्तुतियां दी। गुप्ता ने बताया कि कार्यक्रम से पूर्व स्वच्छता ही सेवा और राष्ट्रीय पोषण अभियान पर जिला प्रशासन के सहयोग से एक जन जागरूकता रैली आयोजित की गई। रैली मुखर्जी उद्यान से प्रारंभ हुई जिसे जिला प्रमुख शक्ति सिंह हाडा ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। 
  

Share This