ग्रामीण क्षेत्रो के विकास के बिना नव भारत के निर्माण की कल्पना नही की जा सकती - प्रधान ढाका

ग्रामीण क्षेत्र के पूर्व जनप्रतिनिधियों का सम्मान समारोह 17 को 
नवलगढ़। नवलगढ़ क्षेत्र के ग्रामीण क्षेत्र के पूर्व जनप्रतिनिधियों का 17 सिंतबर को सम्मान समारोह आयोजित होगा।प्रधान गजाधर ढाका की ओर से पंचायत समिति परिसर में  आयोजित होने वाले कार्यक्रम की तैयारियां जोरो पर चल रही है।इस संबंध में शनिवार को प्रधान गजाधर ढाका ने प्रेस वार्ता कर कार्यक्रम की जानकारी देते हुए बताया कि  सुबह १० बजे से शुरू होने वाले कार्यक्रम में सम्मान समारोह के साथ क्षेत्र के सभी  पूर्व सरपंचों और  पूर्व पंचायत समिति सदस्यों के नाम पंचायत समिति के प्रधान कक्ष में  बनाई जा रही पट्टिका में सुनहरे अक्षरों में लिखे जायेंगे।उन्होने बताया कि नवलगढ़ पंचायत समिति भारत की पहली ऐसी पंचायत समिति होगी। जहां नवाचार की श्रृंखला में 17 सितंम्बर को  नया  इतिहास रचा जाएगा । प्रेसवार्ता में प्रधान ने बताया कि भारत की कुल जनसंख्या की 70त्न प्रतिशत आबादी ग्रामीण क्षेत्र में  निवास करती है। पंचायती राज पूर्व जनप्रतिनिधियों के सशक्तिकरण से गांवों के विकाश में नीम के पत्थर की तरह काम किया है। जिससे गांवो में चहुँमुखी विकास हो रहा है।ग्रामीण क्षेत्र के विकाश के बिना नव भारत के निर्माण की कल्पना नही की जा सकती।आज तो पंचायतो में सरकारों द्वारा बजट की अच्छी व्यवस्था है। लेकिन पहले जनप्रतिनिधियों के पास बजट का अभाव होता था उस समय भामाशाहो को प्रोत्साहित करके गांवो का विकास करवाने वाले उन महापुरूषो का नाम स्वर्णिम अक्षरों में लिखा जाना अति आवश्यक है।जिससे आने वाले समय मे जनप्रतिनिधि उनसे प्रेरणा ले एव पूर्व जनप्रतिनिधियों के एव वर्तमान के जनप्रतिनिधियों  के सम्मेलन अपने आप मे ऐसा समागम पहली बार होगा व वर्तमान जनप्रतिनिधियों को ऐसे कार्यक्रम करने चाहिये। जिससे उन्हें पूर्व जनप्रतिनिधियों का मार्गदर्शन मिलता रहे। वहीं ग्रामीण क्षेत्र में विकास को प्रगति मिलती रहे।

Share This