भाजपा गुमराह कर रही है, कांग्रेस भी चाहती है राम मंदिर बने-गहलोत



-मोदी-राजे शासन पर जमकर साधा निशान
-वोट के लिए अब याद आ रहे बोस और गांधी 
-राफेल मुद्दा ले डूबेगा मोदी सरकार को 
प्रशांत गौड़
जयपुर। पूर्व मुख्यमंत्री  और कांग्रेस के संगठक महासचिव अशोक गहलोत ने सिविल लाईंस स्थित निवास स्थान से केन्द्र की मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि सुभाषचन्द्र बोस का सम्मान पूरा देश करता है लेकिन उनकी विरासत पर आज भाजपा कब्जा जमाना चाहती है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस भी चाहती है राममंदिर बने इस मामले में संघ-भाजपा देश को गुमराह कर रहे है। उन्होंने मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे पर हमला करते हुए कहा कि प्रदेश में उनको लेकर लोगों में व्यक्तिगत आक्रोश है ऐसे में कांग्रेस को कैंपन करने की जरूरत तक नहीं है।
गहलोत की प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान सोमवार को उनके स्वर काफी तीखे दिखे। उन्होंने अपने बयान में प्रदेश की वसुंधरा सरकार को आडे हाथ लेते हुए कहा कि सरकार मौसमी बीमारियों को काबू कर पाने में ही विफल साबित हो रही है। आम जनता बीमारियों से मर रही है लेकिन  सरकार बीमारियों को कंट्रोल नहीं कर पा रही है।  भाजपा सरकारी योजना पर कमल के फूल का टैग लगा रही है जिसका राजनीतिक लाभ पाना चाहती है,इस पर निर्वाचन विभाग को ध्यान देना चाहिए। उन्होंने कहा कि प्रदेश में  भामाशाह कार्ड हो या राशन कार्ड सबकुछ पीपीपी मोड पर चल रहा है अब यही पीपीपी सरकार क अंत कारण बनेगा। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को लेकर लोगों में व्यक्तिगत आक्रोश है। नरेगा को लेकर हालात बिगडे हुए है।शायद इसकी जानकारी सीएम को नहीं है। प्रदेश में सरकार के खिलाफ आक्रोश है अब राजस्थान में सरकार बदलने का मानस जनता ने बना लिया है। गहलोत ने अवैध बजरी खनन और बजरी की हो रही कालाबाजारी पर राजे सरकार को घेरा । उन्होंने कहा कि बजरी माफिया को सरकार ने दे रखी खुली छूट दे रखी है। माफिया के हौसले बुंलद हैं, ऊपर से नीचे तक तय बंधी है। जनता को इसका जवाब देना चाहिए।अकाल की स्थिति जिलों में बन चुकी है, किसान हताश है। सरकार ऋण माफी के नाम पर ढ़ोग कर रही है।
रामायण भी कम पड़ जाए
अशोक गहलोत ने मोदी सरकार पर जमकर प्रहार किया। उनकी बयान में मोदी -राजे को घेरते हुए सरकार की नीतियों पर जमकर हमला बोला। गहलोत ने कहा कि  ुल्क में घृणा का माहौल है,  काग्रेस अध्यक्ष कहते है कि भाईचारे से राजनीति हो लेकिन देश में भाई-भाई में वैमन्सय पैदा किया जा रहा है। इस सरकार को  सवालों के जबाव देना नहीं है। यह सरकार ऐसी आई है केन्द्र व राज्य में इन्हें लेकर बातें इतनी हैं कि रामायण भी कम पड़ जाए। उन्होंने कहा कि  प्रदेश की जनता के हालात बिगड़े है। आज कानून व्यवस्था की स्थिति चौपट है, बलात्कार की घटनाएं भाजपा शासित सरकार में पूरे देशभर में  हो रही हैं।
मुरझा चुका है कमल का फूल
अशोक गहलोत ने कहा कि भाजपा अब मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की चेहरे की नहीं कमल के फूल की बात कर रही है जबकि कमल का फुल पहले ही मुरझा चुका है। जब राजनाथ ने नारा दिया था कि अगली सरकार मोदी सरकार। गहलोत ने कहा कि डालर के हालात विश्वबाजार में क्या है तो मोदी जी के मुंह पर अब ताले लगे हुए है। भाजपा की हालात ऐसी है कि आम जनता के बीच जाकर कांग्रेस को कैंपन करने की कोई जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि प्रदेश और अन्य राज्यों में चाऐ नरेन्द्र मोदी दौरा करे या अमित शाह,लेकिन राफेल मामले सबके सामने है मोदी सरकार को झूठ मोदी को ले डूबेगा।

Share This