गांधी जयंती पर मिलेंगी द्रव्यवती नदी प्रोजेक्ट की सौगात

 
खबर - प्रशांत गौड़ 
-मुख्यमंत्री कल करेंगी लोकापर्ण
-आधे काम के बीच आम जनता का होगा समर्पित
जयपुर । पूर्ववती गहलोत सरकार के समय जयपुर मेट्रो प्रोजेक्ट जिस तरह ट्रायल रन शुरू किया गया था उस तरह वर्तमान चुनावी मोड में भाजपा सरकार अब द्रव्यवती नदी प्रोजेक्ट  अधूरे काम के बीच लोकापर्ण किया जाएगा। मंगलवार को मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सुशीलपुरा से बंबाला तक हो चुके  करीब 75 फीसदी काम के बीच इसको आम जनता को समर्पित करेंगी। मुख्यमंत्री इस दौरान शिप्रा पथ से सुशीलपुरा तक इस परियोजना के तहत हुए काम का जायजा भी ले सकती है।
नगरीय विकास स्वायत्त शासन एवं आवासन मंत्री  श्रीचंद कृपलानी ने बताया कि मुख्यमंत्री की दूरदर्शिता ही है कि उन्होंने द्रव्यवती नदी परियोजना को मूतज़्रूप देने की पहल करते हुए परियोजना क्षेत्र के विकास एवं सौंर्दर्यीकरण स्विस चैलेंज पद्धति के तहत पर्यटन स्थल के रूप में विकसित कराने के निर्देश दिए थे। जयपुर विकास आयुक्त श्री वैभव गालरिया की माने तो  जयपुर में ग्राम जैसलिया से प्रारम्भ होकर लगभग 47.50 किमी दूर ढूंढ नदी मेें जाकर मिलने वाली द्रव्यवती नदी की निर्मल धारा प्रदूषित नाले के रूप में परिवर्तित हो गई थी जिसका प्रदूषित जल,बदबूदार वातावरण गंदगी के ढेर ना केवल आस-पास की आबादी की परेशानी व बीमारियो के कारण बने हुए थे बल्कि यह शहर की खूबसूरती को भी प्रभावित कर रहे थे। नदी में 30 सेमी पानी बना रहे ,इसके लिए प्रत्येक 300 मीटर पर चेक डेम बनाए गए हैं। नदी में सीकर रोड,  रीको क्षेत्र,बम्बाला एवं गोनेर क्षेत्र में 170 एमएलडी क्षमता के पॉच एसटीपी प्लॉट भी स्थापित किये गए हैं। नदी के 38 किमी में दोनों ओर साईकल ट्रेक का भी निर्माण करवाया गया।  नदी क्षेत्र के पास पानीपेच सीकर रोड पर 3.68 हैक्टेयर, शिप्रापथ मानसरोवर पर 2.95 हैक्टेयर एवं बम्बाला पुलिया के पास 2.98 हैक्टेयर क्षेत्र में तीन वृहत उद्यान विकसित किए गए हैं। इसमें पानीपेच पर बर्ड पार्क, बम्बाला में बोटेनिकल पार्क, तथा शिप्रापथ पार्क में सुंदर उद्यान विकसित किया गया है। बर्ड पार्क स्थित 100 वर्ष से अधिक पुराने वॉटर पम्प हाउस को म्यूजियम में परिवर्तन कर एक ओर कैफे का भी निर्माण किया  है। इसके अलावा नदी पर लगभग 17 हजार पेड.पौंधेए सजावटी पौंधे एवं झाडियॉ लगाई गई हैं। द्रव्यवती नदी परियोजना के 30 किमी क्षेत्र चैंबीसों घण्टे सीसीटीवी की नजर में रहेगा। साथ ही वाई- फाई, आई-कियोस्क, स्मार्ट डस्टबिन, वेरिएबल मैसेज साईनेजज, नदी के शहरी क्षेत्र में पब्लिक अनाउनसमेंट सिस्टम लगाए गए हैं।  शिप्रापथ पार्क में नागरिकों को द्रव्यवती नदी परियोजना की जानकारी मिल सके। इसके लिए प्रदर्शनी और जागरूकता केन्द्र का निर्माण करवाया गया है। यहॉ द्रव्यवती नदी के कायाकल्प से पहले और बाद की स्थिति को दिखाया जाएगा।
हर जगह  निर्माण काम अधूरा: द्रव्यवती प्रोजेक्ट के तहत अब अभी हर जोन क्षेत्र में काम अधूरा है। पानी को ट्रीटमेंट करने, साईकिल ट्रैक , पार्क सहित अन्य गतिवधियों पर काफी काम होना है। कई जगह काम में खामियां है हालांकि शिप्रा पथ पर काम लगभर पूरा हो चुका है यहां का क्षेत्र पूरी तरह चमन हो उठा है। इस परियोजना को सरकार का ड्रीम प्रोजेक्ट माना गया है जिसको सरकार चुनाव में बड़ी उपलबिध के तौर पर रखेगी सरकार ने इसका निर्माण साबरमती नदी प्रोजेक्ट के तर्ज पर किया है।
मैसेज की चर्चा: इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए भाजपा नेता जुटे है। कार्यक्रम के तहत अधिकाधिक भीड के लिए कार्यकर्ताओं को महापौर से लेकर भाजपा मंत्री, विधायक, पाटी संगठन नेता मैसेज भेज रहे है। महापौर भी अधिकाधिक भीड़ जुटाने के लिए काफी मैसेज शेयर कर रहे है।

Share This