चिकित्सा विभाग की टीम ने किया 35 कैदियों का स्वास्थ्य परीक्षण, एचआईवी सहित कई बीमारियों के लिए नमूने

खबर - जयंत खांखरा 
खेतङी - चिकित्सा विभाग की टीम ने खेतड़ी उप कारागृह  में बंद कैदियों का स्वास्थ्य परीक्षण कर एचआईवी, सिफलिस, हेपेटाइटिस जैसी कई बीमारियों के रक्त संग्रहण कर जांच के नमूने लिए हैं। राजस्थान एड्स नियंत्रण संस्थान के जयपुर प्रिजन  पियर मोबिलाइजर राजेश कुमार ने बताया कि राजस्थान एड्स नियंत्रण संस्थान तथा डीजी जेल के मध्य एक एमओयू के अनुसार जयपुर जॉन के अंतर्गत आने वाली जेलों में बंद कैदियों के स्वास्थ्य की जांच की जा रही है जिसमें एचआईवी, हेपिटाइटिस , सिफलिस, टीबी सहित कई बीमारियों की जांच की जा रही है ।जयपुर जोन के अंतर्गत 3 सेंट्रल जेल तीन डिस्ट्रिक्ट जेल तथा कई उप कारागृह आते हैं। स्वास्थ्य विभाग की टीम में डॉक्टर मीनाक्षी सैनी, लैब टेक्नीशियन जिला अध्यक्ष अमित कुमार जांगिड़ ,लैब सहायक सत्येंद्र कुमार, कंपाउंड जय प्रकाश यादव ने खेतड़ी कारागृह में बंद 35 कैदियों की जांच की, राजेश कुमार ने बताया कि यदि कोई कैदी एचआईवी पॉजिटिव पाया जाता है तो उसके परिवार में 18 वर्ष से कम आयु के बच्चों को एक हजार रुपए प्रति माह की पेंशन योजना से जोड़कर सरकार द्वारा लाभान्वित किया जाता है वही टीबी पॉजिटिव होने पर मरीज को पांच सौ प्रति माह की पेंशन दी जाती है।

Share This