नौ माह से कौमा में रहकर जीवन व मौत के बीच संघर्ष कर रही महिला के उपचार का बीड़ा उठाया

खबर - अजय कुमार 
चूरू।मुख्यालय पर संचालित आपणी पाठशाला ‘मुस्कान’ ने निकटवर्ती कारंगाा बड़ा गांव में नौ माह से कौमा में रहकर जीवन व मौत के बीच संघर्ष कर रही एक २८ वर्षीय महिला के उपचार का बीड़ा उठाया है। यहां मुस्कान संस्थान के सचिव दिनेश कुमार सैनी ने बताया कि संस्थान के संस्थापक सिपाही धर्मवीर जाखड़ के सानिध्य में शेखावाटी कन्यादान सेवा संस्थान रामगढ़ शेखावाटी के अध्यक्ष विनोद दाधीच,   रामगढ़ शेखावाटी के चैयरमेन मुज्जमिल भाटी, रामगढ़ शेखावाटी के पार्षद जमील कुरेशी, पाठशाला के दीपक सहारण कारंगा बड़ा गांव में विष्णु सोनी के घर पहुंचे। विष्णु सोनी की पत्नी किरण सोनी को प्रसव के लिए सीकर के भूमिका अस्पताल में भर्ती किया गया था। वहां परिजनों से बड़ी धन राशि वसूली गई। बादमें किरण सोनी को रैफर कर दिया गया। इस दौरान किरण की तबीयत और बिगड़ गई। वह कौमा में चली गई। चिकित्सकों ने उसे घर भेज दिया। रुपयों के अभाव में परिजन किरण का किसी अस्पताल में उपचार नहीं करवा सके। वह पिछले नौ माह से कौमा में रहकर जीवन व्यतित कर रही है। उसके दो बेटियां हैं। एक की उम्र नौ माह है। बड़ी बेटी की उम्र ६ वर्ष है। कारंगा बड़ा गांव में किरण की स्थिति देखकर शेखावाटी कन्यादान सेवा संस्थान रामगढ़ शेखावाटी के अध्यक्ष विनोद दाधीच ने ५० हजार रुपये और आपणी पाठशाला की टीम की ओर से ११ हजार रुपये की सहायता प्रदान की गई। दिनेश कुमार सैनी ने बताया कि किरण के उपचार के लिए ३० हजार रुपये के लगभग सोशल मीडिया के माध्यम से अपील करने पर सहायता मिल गई है। इस मौके पर गौरव सेनानी भानीसिंह लाम्बा व भंवरसिंह आदि मौजूद थे।

Share This