जहां विराजे खाटू वाला लीले का असवार ...............

खबर - पवन शर्मा 
श्याम की भक्ति में रंगा कस्बा 
सूरजगढ़। कस्बें के वार्ड न.18 के प्राचीन श्याम मंदिर ,श्याम दरबार और अनाज मंडी  स्थित श्याम मंदिर में वार्षिकोत्सव पर चल रहे दो दिवसीय धार्मिक अनुष्ठानों का समापन रविवार को प्रसाद वितरण व भंडारे के साथ हो गया। भंडारे में सूरजगढ़ व आसपास के ग्रामीण क्षेत्र से आए हजारो श्राद्धालुओं ने प्रसाद ग्रहण किया। कार्यक्रमों के दौरान मंदिरो का अलौकिक श्रंगार के साथ बाबा की प्रतिमाओं का भी भव्य श्रंगार किया गया। प्राचीन श्याम मंदिर में भक्त मनोहरलाल ,नत्थूराम ,बजरंगलाल ,पूर्णमल,मोहनलाल आदि के सानिध्य में आयोजित हुए कार्यक्रमों में बीती रात हुई भजन संध्या में प्रियंका चौधरी,मुकेश फौजी,नारनौल के सुरजीत बेदी,विजेंद्र माधोगड़िया,गणेश चौरसिया,मनीष अग्रवाल,शुशील गौतम अन्य गायक कलाकार भजनो की प्रस्तुतियां दी। भजन संध्या के दौरान गायक कलाकारों ने पुलवामा हमले में शहीद हुए जवानो के जवानो को श्रद्धांजली भी दी। वही श्याम दरबार में हरिराम सैनी ,गोपीराम सैनी , हजारीलाल सैनी और कुरड़ाराम सैनी के श्याम प्रभु का 371 वां वार्षिकोत्सव धूमधाम के साथ मनाया गया। रात्री हुई भजन संध्या में धिंगडिया के सुनील शर्मा,भापर के संजय सैन कलकत्ता के दामोदर शर्मा,अकोला के गोपाल शर्मा ,धनबाद के मनोज सैन,गाजियाबाद की सोनिया शर्मा,उदयपुर की केमिता राठौड़,भिवानी की अंजू शर्मा,चैतन्य दाधीच अन्य स्थानों से आये कलाकार भजनों की प्रस्तुतियां देकर बाबा को रात भर रिझाया। श्याम मंदिर मंडी में श्याम शक्ति मंडल के तत्वाधान में आयोजित हुई भजन संध्या में जयपुर की गायिका उमा लहरी ने भजनो की प्रस्तुतियां दी। 

जिले भर से पदयात्रा कर आए श्रद्धालु 
वार्ड 18 के श्याम मंदिरो में श्याम बाबा के वार्षिकोत्सव पर हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी जिले भर से श्रद्धालु हाथो में निशान लेकर कस्बे में श्याम मंदिर में आकर बाबा के निशान चढ़ाये। प्राचीन श्याम मंदिर के  मोहनलाल ने बताया की मंदिर में मावंडियो की ढाणी ,श्यालु,सेही कलां ,  सेही ,खेड़ला स्थानों से आये पदयात्रियों के जत्थे ने बाबा के निशान चढ़ाये। वही श्याम दरबार के सयोंजक हजारीलाल सैनी ने जानकारी देते हुए की खेड़ला ,कंवरपुरा ,बख्तावरपुरा सहित अन्य स्थानों से सैंकड़ो की संख्या में पद यात्रियों के जत्थे में निशान लेकर आए पद यात्रियों बाबा को निशान चढ़ाकर मन्नतें मांगी। 



Share This