राजस्थान राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग की सदस्य ने मासूम दुष्कर्म पीड़िता के परिवार से की मुलाकात

खबर -- विकास कनवा 
उदयपुरवाटी।कस्बे में पूर्व में हुए मासूम बच्चियों के साथ दुष्कर्म की घटना व अन्य घटनाओं को लेकर राजस्थान राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग की सदस्य सीमा जोशी व जयश्री गर्ग उदयपुरवाटी पहुंची। जिसमें उदयपुरवाटी में 5 साल की मासूम  दुष्कर्म पीड़िता के घर परिजनों से मुलाकात की व घटना की पूरी जानकारी ली। जिसके बाद उदयपुरवाटी के पंचायत समिति सभागार में बाल संरक्षण आयोग की बैठक रखी जिसमें तहसीलदार, एसडीएम, थानाधिकारी ,चिकित्सा विभाग बीसीएमएचओ भगवान सिंह मीणा पहुंचे और सभी अधिकारी सभा में बाहर मिलने से नदारद रहे। सभा में बाल अधिकार आयोग के सदस्यों ने कहां है कहीं भी छोटे बच्चों से काम करवाया जा रहा है अन्य कोई काम करवाया जा रहा है तो उनको तुरंत मुक्त करवाओ और शिक्षा की और उनका मुख करो इस दौरान महज एक मीटिंग को खानापूर्ति में तब्दील किया गया। इस दौरान और कोई भी अधिकारी नहीं पहुंचने के चलते मीटिंग ज्यादा लंबी नहीं चल सकी। महज  कागजों में खानापूर्ति की गई जिसके बाद सभी अधिकारी अपने दफ्तर लौट गए। इस दौरान मीडिया के दौरान राजस्थान राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग की सदस्य सीमा जोशी से बात की गई तो बताया दामिनी फंड से आर्थिक सहायता दिलाने के लिए अभी कागजात तैयार कर आगे भेजेंगे और उचित मुआवजा दिया जाएगा। इस दौरान उदयपुवाटी थानाधिकारी भगवान सहाय मीणा की प्रशंसा करते हुए कहा है हमने राजस्थान में घूमते हैं जिसमें अधिकतर थानाधिकारी व थानों में कंप्लेंट दर्ज नहीं करने की शिकायतें सामने आती है लेकिन यहां सबसे पहले थानाधिकारी ने मामला दर्ज कर और अब तक 376 के सभी मामले में आरोपियों को तुरंत गिरफ्तार कर लिया गया है जिसके बाद राजस्थान राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग के सदस्य भी थाना अधिकारी के कार्य से प्रभावित होकर प्रशंसा की है। इस दौरान पार्षद अजय तसीड़, एडवोकेट रविंद्र सिंह लांबा, शक्ति सिंह शेखावत, सहित अनेक लोग मौजूद थे।

Share This