दिव्यांगों को सभी 10 हजार पंचायत भवनों में रैम्प की सुविधा देने वाला पहला राज्य होगा ये

राजस्थान 
जयपुर। राजकीय भवनों में दिव्यांगों के सहज आवागमन हेतु रैम्प सुविधा एक मूलभूत आवश्यकता है। इसी संदर्भ में राज्य के संवेदनशील उप मुख्यमंत्री  सचिन पायलट ने पंचायती राज विभाग द्वारा प्रदेश के सभी ग्राम पंचायत भवनों, राजीव गांधी सेवा केन्द्रों एवं आंगनबाड़ी केन्द्रों पर दिव्यांगों के लिए रैम्प बनवाने का निर्णय लिया है। पायलट ने बताया कि दिव्यागंजन राजकीय परिसरों में सहजता से आ जा सकें इस हेतु प्रदेश के समस्त पंचायत भवनों, राजीव गांधी सेवा केन्द्रों एवं आंगनबाड़ियों में रैम्प बनाये जायेंगे। उन्होंने बताया कि दिव्यांगजनों को अपने कार्यों के लिये राजकीय परिसरों में आने-जाने में रैम्प के अभाव में काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है इसे देखते हुए रैम्प निर्माण के कार्य प्राथमिकता से स्वीकृत कर दिसम्बर, 2019 तक पूर्ण करने के निर्देश समस्त जिला परिषदों के मुख्य कार्यकारी अधिकारियों को दिये गये हैं।  पायलट ने बताया कि प्रदेश की प्रत्येक पंचायत में औसतन 3 भवन हैं, जहॉं लगभग 30 हजार रैम्प बनवाने का निर्णय लिया गया है। उन्होंने बताया कि रैम्प निर्माण की मॉनिटरिगं राज्य स्तर से की जायेगी व अगर कोई भवन रैम्प निर्माण से वंचित रह गया तो उसे प्राथमिकता से तैयार करवाया जायेगा। दिव्यांगों को राजकीय भवनों में यह सुविधा देने वाला राजस्थान देश में पहला राज्य होगा।

Share This