पोदार काॅलेज में डाॅ रामनाथ ए पोदार की 111 वी जयन्ती एवं वार्षिक उत्सव ‘‘ RememberingThe Mahatma- 2020‘‘ का आयोजन।


नवलगढ: दीआनन्दीलाल पोदार ट्रस्ट द्वारा संचालित संस्था पोदार काॅलेज में आज स्थापना दिवस डाॅ रामनाथ ए पोदार की 111 वीं जयन्ती के उपलक्ष्य में स्मृति दिवस व प्रतिवर्ष की भांति वार्षिक उत्सव बडी शालीनता और गौरव के साथ मनाया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि राजस्थान हिन्दी ग्रंथ अकादमी जयपुर के निदेषक डाॅ बी एल सैनी रहें। कार्यक्रम की अध्यक्षता डाॅ दयाशंकर  जांगिड (अध्यक्ष, अन्तर्राष्ट्रीय अलायन्स क्लब) ने की।
कार्यक्रम में आनन्दीलाल पोदार ट्रस्ट के अधिशाषी निदेशक  श्री एम डी शानभाग जी प्रो एम सी मालू सचिव, पोदार ट्रस्ट, डाॅ वी एस शुक्ला, श्री राजेश सैनी, पोदार काॅलेज प्राचार्य डाॅ सत्येन्द्र सिंह, पोदार टीटी काॅलेज प्राचार्य डाॅ दुर्गा भोजक उपप्राचार्य एवं कार्यक्रम संयोजक डाॅ विनोद कुमार सैनी इत्यादि की गरिमामय उपस्थित रहीं।नवलगढ शहर के अन्य गणमान्य नागरिक श्री रविन्द्र पुरोहित, मोहनलालचू डीवाल, कैलाश चोटिया, फूलचन्द सैनी, श्रीअन्नू महर्षि, श्री संजय बासोतिया, डाॅ श्रवणसैनी, व्याख्याता राजकीय महाविद्यालय इत्यादि भी इस कार्यक्रम का हिस्सा रहें। 
प्रो एम सी मालू ने डाॅरामनाथ ए पोदार के 111 वी जयन्ती पर आयोजित पुष्पांजली कार्यक्रम में बोलते हुए उनके जीवन पर प्रकाश  डाला और कहा कि वे बहुमुखी व्यक्तित्व के धनी थे। शेखावाटी अंचल में शिक्षा  उद्योग, पर्यावरण के क्षेत्र में उनके द्वारा किये गये कार्यो एवं योगदान की  प्रशंसा की।साथ ही गांधीजी द्वारा ट्रस्ट की स्थापना के गौरवपूर्ण इतिहास को बताया। उन्होंने पोदार परिवार से जुडे एवं अपने जीवन के अनुभव भी सांझा की। 
कार्यक्रम के मुख्य अतिथि डाॅ बी एल सैनी ने बताया कि पोदार परिवार द्वारा किये गये कार्य  न केवल शेखावाटी अंचल में बल्कि पूरे देश भर में याद किये जाते है। मैं इस महाविद्यालय की ही देन हूूॅ।आगन्तुक अतिथियों के द्वारा अपने संस्मरणात्मक वक्तव्यों के माध्यम से डाॅ रामनाथ ए पोदार को श्रद्धा से याद किया गया। सभी अतिथियों के द्वारा डाॅरामनाथ ए पोदार के द्वारा शिक्षा  के क्षेत्र में किये गये योगदान की भूरिभूरि प्रषंसा की गईऔर उनके द्वारा रामनाथ ए पोदार की प्रतिमा के समक्ष श्रद्धा सुमन अर्पित किये गये।इस कार्यक्रम में पोदार ट्रस्ट एवं पोदार शिक्षण  संस्थाओं के सभी संस्था प्रधानों एवं स्टाफ सदस्यों ने भी डाॅ रामनाथ ए पोदार की प्रतिमा के समक्ष श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुए उन्हें याद किया। 

इसके उपरान्त पोदार काॅलेज परिसर में वार्षिक उत्सव  ‘‘रिमेमबरिंग दी महात्मा‘‘ आयोजित किया गया।वार्षिक उत्सव का विषय गांधीजी की 150 वी  जयन्ती वर्ष पर उन्हें याद करते हुए रिमेमबरिंग दी गांधी रखा गया।कार्यक्रम पोदार ट्रस्ट के प्रथम चेयरमैन राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को समर्पित था। 
कार्यक्रम का विधिवत शुभारम्भ मुख्य अतिथि डाॅ बी एल सैनी, निदेषक, राजस्थान हिन्दी ग्रन्थ अकादमी जयपुर, अति विषिष्ट अतिथि श्री मुरारीलाल शर्मा, उपखण्ड अधिकारी, नवलगढ, पोदार ट्रस्ट के अधिशाषी निदेशक  श्री एम डी शानभाग, पोदार ट्रस्ट के सचिव प्रो एम सी मालू, डाॅ वी एस शुक्ला, पोदार काॅलेज प्राचार्य डाॅ सत्येन्द्र सिंह एवं पोदार काॅलेज उप -प्राचार्य डाॅ विनोद सैनी के द्वारा दीपप्रज्ज्वलन कर किया गया। शहर के गणमान्य नागरिक श्री गजानन्द सैनी, केडी यादव, डीडी शर्मा, डाॅ श्रवण सैनी, डाॅ दयाषंकर जांगिड, कैलाष चोटियां समारोह में उपस्थित अतिथियों के स्वागत सत्कार के पश्चात्  पोदार काॅलेज प्राचार्य डाॅ सत्येन्द्र सिंह द्वारा काॅलेज प्रतिवेदन प्रस्तुत किया गया और प्राचार्य ने अपने स्वागत भाषण में कहा कि पोदार ट्रस्ट के चेयरमैन कांति कुमार आर पोदार का मुख्य उदेश्य  पोदार महाविद्यालय के अधिकतम छात्र-छात्राओं को विश्वविधालय की मेरिट में स्थान दिलाना तथा नवलगढ के शहर के प्रत्येक घर से एक शानदार काबिल शख्सियत बनाकर निकालना है। उन्होंने बताया कि पोदार काॅलेज डिफेन्स एकेडमी की शुरूआत अगले सत्र से करने जा रहा है।

इसी के साथ उन्होंने बताया कि पोदार ट्रस्ट की ट्रस्टी सुश्री वेदिका पोदार, महाविद्यालय  को मार्गदर्शन  समय समय पर प्रदान करते रहते है।उन्हीं की अनुपालना करके ‘स्वच्छ भारत अभियान ‘ ‘बेटी पढाओं-देश  बढाओं‘, वृक्ष लगाओं भविष्य बचाओं इत्यादि कार्यक्रमों में महाविद्यालय अपना बहुमूल्य योगदान एवं भूमिका निभा रहा है। उन्होंने यह भी बताया कि ट्रस्टी सुश्री वेदिका पोदार को डायना अवार्ड से सम्मानित किया जाना हम सभी के लिए गर्व का विषय रहाहै। आज का कार्यक्रम जिस थीम पर आधारित है व थीम ‘‘रिमेमबरिंग द महात्मा‘‘ भी उन्हीं के द्वारा मार्गदर्शित  है। वे अपने व्यस्तम समय मेंसे समय निकाल कर हमें समय समय पर मार्गदर्शन  प्रदान करती रहती है। कार्यक्रम में नवलगढ शहर के सी आई श्री महावीर सिंह राठौड का पोदार महाविद्यालय  द्वारा प्रशस्ति पत्र प्रदान कर उनकी सेवाओं का सम्मान करते हुए उनका अभिनंदन किया गया।कार्यक्रम में पोदार बीएड काॅलेज एवं पोदार महाविद्यालय के छात्र-छात्राओं द्वारा रिमेमबरिंग द महात्मा की थीम पर एक से बढकर एक सांस्कृतिक प्रस्तुतियां दी गई। 
रंगारंग प्रस्तुतियों के माध्यम से गांधीजी की सम्पूर्ण जीवन की यात्रा उनके आन्दोलन प्रेरणास्पद घटनाएं एवं उनकी शिक्षाप्रद  बातों को दर्शकों के सम्मुख प्रस्तुत किया गया कार्यक्रम में विश्वविधालय  स्तर पर उत्कृष्ठ प्रदर्शन करने वाले विद्यार्थियों को अतिथियों द्वारा प्रशस्ति पत्र एवं स्मृति चिन्ह प्रदान किया गया। सांस्कृतिक प्रतियोगिता खेलकूद, एन सीसी, स्काउट में सर्वोतम प्रदर्शन  करने वाले महाविद्यालय के  विद्यार्थियों कोअतिथियों के द्वारा पुरस्कृत किया गया । श्रेष्ठ विद्यार्थी आॅफ दी ईयर आॅफ पोदार काॅलेज से गजेन्द्र शर्मा एम एस सी भौतिक विज्ञान को दिया गया । विद्यार्थियों के द्वारा लगाई गई विज्ञान प्रदर्शनी  एवं शैक्षणिक मैले 2020 में श्रेष्ठ माॅडल को प्रदर्षित करने वाले विद्यार्थी भी सम्मानित हुए छात्र -छात्राओं की प्रस्तुतियां देखकर सभी दर्शक एवं अभिभावक झूम उठे एवं सभी ने भूरि-भूरि प्रशंसा की और तालियां बजाकर उनका उत्साहवर्धन किया। पुरस्कार प्राप्त करने वाले विद्यार्थियो भी बहुत उत्साहित दिखें। मुख्य अतिथि डाॅ बीएल सैनी ने कहा महाविद्यालय उत्तरोत प्रगति करें यही मेरी शुभकामना है। महावीर सिंह राठौड ने कहा कि पोदार महाविद्यालय अपने में आॅक्सफोर्ड विश्विधालय  है। यहां सम्मानित होकर मैं अभिभूत महसूस कर रहा हॅॅू। अपने उद्बोधन में प्रो एम सी मालू ने कहा कि श्री कांतिकुमार आर पोदार व ट्रस्टी सुश्री वेदिका पोदार की इच्छा है कि महाविद्यालय में इस प्रकार के साहित्यक एवं सांस्कृतिक बहुआयामी कार्यक्रम होते रहने चाहिए।जिससे विद्यार्थियों का आगे बढने का अवसर मिलता रहें। अध्यक्ष महोदय ने पुरस्कृत विद्यार्थियों को बधाई देते हुए उनके उज्जवलभविष्य की कामना की। पोदारकाॅलेज उप प्राचार्य ने सभी अतिथियों  एवं अभिभावकों का धन्यवाद  ज्ञापित किया। कार्यक्रम का संचालन श्री मुक्तक शर्मा एवं कवि मुकेश  मारवाडी ने किया।
पोदार ट्रस्ट के चेयरमैन कांतिकुमार आर पोदार व ट्रस्टी सुश्री वेदिका पोदार का मानना है कि भविष्य  में महात्मागांधी की अविस्मरणीय योगदान पर आधारित कार्यक्रम किये जाने चाहिए और काॅलेज के विद्यार्थियों को सम्मानित होने वाले विद्यार्थियों से प्रेरणाा लेकरपोदारकाॅलेज व अपनेअभिभावकों का मान बढाने के लिए प्रयत्न करना चाहिए।




Share This