नकारात्मक विचारों को दूर करती है भागवत

बीकानेर(जयनारायण बिस्सा)। पुरूषोत्तम मास के प्रारंभ होते ही शहर में श्रीमद्भागवत कथाओं का वाचन जगह जगह किया जा रहा है।  राधामणी मंदिर नत्थूसर बास में शुरू हुई भागवत कथा में कथावाचक पं महेश व्यास ने भागवत का महत्व बताया  गया। कि जहां पर भी भागवत कथा होती है वहां का वातावरण स्वत: ही सकारात्मक ऊर्जा से भर जाता है। इसलिए  जब भी हमें भागवत कथा सुनने का अवसर मिलता है तो हमें उसे अवश्य सुनना चाहिए क्योंकि यह मन से नक ारात्मक विचारों को भी दूर करती है। उन्होंने राजा शुकदेव और राजा परीक्षित का प्रसंग भी सुनाया। कथा के मध्य  उन्होंने मधुर भजन सुनाए। जिसे सुनकर भक्त आनंदित हो उठे। इससे पूर्व कलश यात्रा निकाली गई। 
प्रभु रहते हैं भक्तों के पास
इस अवसर पर कथावाचक पंडित व्यास ने कहा कि निस्वार्थ भाव से की गई भक्ति से प्रभु अवश्य प्रसन्न होते हैं। प्रभु सदैव अपने भक्तों के हर समय आस-पास ही रहते हैं। जब भी उस पर कोई विपदा आती है तो वे तत्क्षण उसकी  सहायता भी करते हैं।


Share This