बड़ के बालाजी नाके पर फायरिंग करने वाले पुष्कर गैंग के दो हार्डकोर अपराधीयों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

खबर - जयंत खांखरा 
खेतड़ी -बड़ का बालाजी नाका पर फायरिंग करके जानलेवा हमला करने वाले पुष्कर गैंग के दो हार्डकोर अपराधियों को खेतड़ी पुलिस ने गिरफ्तार किया है। थाना अधिकारी हरदयाल सिंह ने बताया कि 22 अक्टूबर 2016 को गजेश यादव ने रिपोर्ट दर्ज करवाई थी कि राजेश यादव, विकास यादव, राजेश उर्फ सुंदर, कपिल गुर्जर, दीपक गुर्जर ,दिनेश गुर्जर उर्फ देवीलाल गुर्जर तथा मैं स्वयं बड़ के बालाजी नाका पर काम कर रहे थे तो 21 अक्टूबर को 3:30 बजे के बीच डाबला की तरफ से दो बोलेरो गाड़ी आई जिसमें मुखा उर्फ मुख राम गुर्जर निवासी नया गांव हरियाणा, अनिल पुत्र विशाल सिंह निवासी नापला, संदीप उर्फ संदिया  गुर्जर निवासी सादा की ढाणी हरियाणा ,पुष्कर गुर्जर निवासी सादा की ढाणी, राजेश गुर्जर निवासी नयागांव तथा उनके साथ 10 -15 और व्यक्ति आये उस वक्त हम सो रहे थे तो अचानक हमारे ऊपर फायरिंग शुरू कर दी दिनेश उर्फ देवीलाल  भागकर सुरेश शर्मा के मकान में घुसे तो दिनेश के ऊपर फायरिंग की जिससे उसके दाहिने पैर पर छर्रा भी लगा। और उसने घर की छत पर चढ़ कर अपनी जान बचाई। हमने थोड़ी देर बाद वापस आकर देखा तो हमारी दो मोटरसाइकिल की टंकियों में जगह-जगह फायरिंग कर छेद कर दिया गया था और उन्हें क्षतिग्रस्त कर दिया गया था तथा मौके से और रॉयल्टी 3 बुक, और ₹46400 जो बैग में रखे थे तथा एक हुक्का लेकर फरार हो गए थे। इस मामले में पुलिस ने आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया था। लेकिन लगातार पुलिस आरोपियों को पकड़ने के प्रयास कर रही थी इस मामले में पहले ही पुलिस ने संदीप  तथा पुष्कर गुर्जर को गिरफ्तार कर लिया था। लेकिन पुष्कर गैंग से जुड़े हुए अन्य अपराधियों को पकड़ने के लिए पुलिस अधीक्षक मनीष अग्रवाल के दिशा निर्देश पर टीम गठित की गई थी जिसमें थाना अधिकारी हरदयाल सिंह ,ए एस आई विद्याधर शर्मा, कॉन्स्टेबल अजीत चौधरी, व हेड कांस्टेबल अशोक तथा कांस्टेबल राजेश को नियुक्त किया गया रविवार को इस मामले में खेतड़ी पुलिस को बड़ी कामयाबी हासिल हुई घटना के करीब 19 माह बाद मुलजिम भूपसिंह उर्फ भूपिया  पुत्र रामशरण जाति गुर्जर, तथा मुकेश उर्फ मुखिया पुत्र उमराव सिंह जाति गुर्जर निवासी सादा की ढाणी तन मुसनोता थाना नांगल चौधरी जिला महेंद्रगढ़ को हरियाणा के नारनौल से गिरफ्तार किया गया इन दोनों अपराधियों पर हत्या ,हत्या का प्रयास, मारपीट, राजकार्य में बाधा, अवैध हथियार रखने के कई मामले दर्ज है। दोनों अपराधियों पर महेंद्रगढ़ में पुलिस गार्ड पर फायरिंग कर जानलेवा हमला कर बंदी विक्रम उर्फ पपला को छुड़ाकर भगा कर ले जाने का मामला भी दर्ज है मुस्लिम हार्डकोर अपराधी है जिससे नाके से लूटे गए रुपए रसीद बुक और हथियार बरामदगी के प्रयास किए जा रहे हैं। दोनों अपराधियों से और भी कई वारदातें खुलने की संभावना है मुलजिमों ने कई वारदातें कबूल की है।

Share This