ठेकाकर्मियों की मांगों को लेकर आरएलसी से हुई वार्ता

खबर - हर्ष स्वामी 
ग्यारहवें दिन भी हड़ताल जारी, आरएलसी से सात दिन का दिया समय
खेतड़ी नगर-केसीसी प्रोजेक्ट में ठेके पर कार्य कर रही निजी कंपनी एसएमएस के मजदूर अपनी विभिन्न मांगों को लेकर ग्यारह दिनों से केसीसी प्रोजेक्ट के मुख्य गेट पर धरना दे रहे है। ठेकाकर्मियों की मांग को लेकर निजी कंपनी के बीच कोई वार्ता नही होने के कारण शुक्रवार को क्षेत्रिय श्रम आयुक्त (केंद्रीय) जयपुर में केसीसी प्रशासन, एसएमएस कंपनी प्रबंधक, केटीएसएस युनियन के प्रतिनिधि व ठेकामजदूरों की मांगों को लेकर मिले। खेतड़ी तांबा श्रमिक संघ के महामंत्री बिड़दूराम सैनी ने बताया कि अारएलसी को एसएमएस कंपनी के ठेकाकर्मियों की मांगों व समस्याओं के बारे में विस्तार से बताते हुए ओद्योगिक विवाद पत्र भी सौपा। इस संबंध में क्षेत्रिय श्रम आयुक्त (केंद्रीय) जयपुर ने एसएमएस कंपनी तथा एचसीएल के प्रबंधक वर्ग से मजदूरों की मांगों पर विचार विमर्श कर समझोता कर एक सप्ताह में समाधान करने के निर्देश दिए। एक सप्ताह में अगर समझोता नही होता है तो फिर से क्षेत्रिय श्रम आयुक्त (केंद्रीय) जयपुर वार्ता के लिए बुलाया जाएंगा। वार्ता करने वालों में मान्यता प्राप्त युनियन के महामंत्री बिड़दूराम सैनी, एटक के राज्य सचिव कुणाल रावत, रोहिताश, लालाराम, राकेश, सेजय, मदनलाल, हरिसिंह केसीसी प्रशासन की तरफ से उपमहाप्रबंधक (मानव संसाधन) केपी बिसोई, उपप्रबंधक (मानव संसाधन) अवावनी गुरूवारिया, एसएमएस कंपनी की तरफ से खलिल सौदागर, महाप्रबंधक आरएन यादव, खेतड़ी कॉपर ठेकेदार मजदूर संघ की तरफ से उपममहामंत्री राजेश सैनी, रामकिशन ने भाग लिया। ठेकाकर्मियों ने टीसीएल एमएमपीएल कंपनी द्वारा मिलने वाले वेतन का 20 प्रतिशत बढ़ा कर, सालाना एग्रीमेंट, अंडरग्राउंड अलाउंस, इंक्रीमेंट, समय पर वेतन मजदूरों को जोईनिंग लेटर, सीएल, मेडिकल छुटटीयां, कंपनी में बाहरी लोगों को नौकरी न देकर स्थानिय लोगों को रोजगार देने सहित विभिन्न मांगों को लेकर कार्य का बहिस्कार कर रखा है।  

Share This