स्वास्थ्य सेवाओं की प्रगति में पेडेंसी को किसी भी रूप में बर्दाश्त नहीं किया जायेगा: त्यागी

खबर - पंकज पोरवाल 
 भीलवाडा । जिला कलेक्टर शुचि त्यागी ने शुक्रवार को जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक को सम्बोधित करते हुए डिलेवरी के दौरान हाई रिस्क प्रगनेन्सी वाली गर्भवती महिलाओं को चिन्ह्ति कर विशेष ध्यान रखने के साथ हीं उनका नियमित फोलोअप कर स्वास्थ्य सेवाऐं उपलब्ध करवाने के निर्देश चिकित्सा अधिकारियों को दिये। उन्होंने चिकित्सकों से कहा कि स्वास्थ्य सेवाओं की प्रगति में पेडेंसी को किसी भी रूप में बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। बैठक में जिला कलेक्टर ने विभागीय योजनाओं की समीक्षा करते हुए परिवार कल्याण सेवाओं की प्रगति में आवश्यक सुधार कर पीपीआईयूसीडी के निवेशन में कम प्रगति वाले ब्लाॅक चिकित्सा अधिकारियों को सुधार करने के निर्देश दिये। गर्भवती महिलाओं को स्वास्थ्य सेवाऐं उपलब्ध करवाने हेतु जिले में 104 व 108 एम्बुलेंस सेवाओं के संचालन की जानकारी रख, इनको अलर्ट रखने के निर्देश भी चिकित्सा अधिकारियों को दिये। बैठक में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. जे.सी. जीनगर ने एजेंडावार सभी बिन्दुओं पर स्वास्थ्य कार्यक्रमों की समीक्षा कर भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना में रूचि लेकर योजना का अधिकाधिक लाभ आमजन को उपलब्ध करवाने, जेएसवाई व राजश्री योजना की प्रथम व द्वितीय किस्त के भुगतान में हो रही देरी के कारणों का पता लगा आॅनलाईन भुगतान की प्रगति को बढाने, टीकाकरण में शत-प्रतिशत लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए पहले रजिस्टेªशन करने के उपरान्त हीं टीकाकरण कार्य को पूरा करवाने के निर्देश चिकित्सकों को दिये। बैठक में अति0 मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. मुस्ताक खान ने परिवार कल्याण कार्यक्रमों की समीक्षा कर आवश्यक निर्देश चिकित्साधिकारियों को दिये। उप मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. घनश्याम चावला ने मौसमी बीमारियों की रोकथाम की समीक्षा कर जिले में एन्टीलार्वल गतिविधियों को बढाने, चिकित्सा संस्थानों पर दवा की उपलब्धता सुनिश्चित करने व इमरजेन्सी किट तैयार रख समय पर मरीजों को उपचार सुविधा उपलब्ध करवाने के निर्देश चिकित्सकों को दिये। बैठक में पीएमओ डाॅ. एस.पी. आगीवाल, जिला कार्यक्रम प्रबंधक योगेश वैष्णव, डीएनओ योगेन्द्र पालीवाल, एपिडिमियोलाॅजिस्ट चन्द्रदेव आर्य, जिला अकाउन्ट मैनेजर अरविन्द शर्मा, जिला डाटा मैनेजर तरूण चास्टा, जिला आईईसी समन्वयक अशोक प्रजापत, सहित कई चिकित्सा अधिकारी उपस्थित थे।

Share This