हमें गुरु का आदर करना कभी नहीं भूलना चाहिए: अजमेरा

खबर - पंकज पोरवाल 
भाविप युवा शाखा ने किया 20 गुरुओं, 4 विद्यार्थियों  व 2 सहायक कर्मचारियों का सम्मान
भीलवाड़ा। गुरु का भाव हमेशा समर्पण का होता है आगे जीवन में हम सब किसी उच्च स्थान पर पहुंच जाए हमें गुरु का आदर करना कभी नहीं भूलना चाहिए। यह बात भाविप के प्रांतीय महासचिव कैलाश अजमेरा ने भाविप युवा शाखा का द्वारा राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय पुलिस लाइन मे आयोजित 15वें गुरुवंदन छात्र अभिनंदन कार्यक्रम मे मुख्य वक्ता के रूप मे कही। अजमेरा ने कहा कि माता पिता के साथ गुरु का ही सर्वोच्च स्थान होता है गुरु ही हमें सही राह बताता है, गुरु कुम्हार की तरह होता है जो कि कच्ची मिट्टी यानी बालक को आकार यानी भविष्य देता है। शाखा संरक्षक विनोद कोठारी ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए स्वामी विवेकानंद के जीवन के प्रेरक प्रसंग सुनाये और भविष्य निर्माण में अनुशासन का महत्व बताया। मंच संचालन शाखा उपाध्यक्षा श्रीमती किरण सेठी ने किया। कार्यक्रम प्रभारी सीमा गोयल ने बताया की कार्यक्रम के अंत में बालकों को नशा मुक्ति एवं राष्ट्र के प्रति समर्पण की शपथ दिलाई गई कार्यक्रम में रक्तदान प्रभारी राकेश बूबना एवं सहसचिव रामपाल सोमानी भी उपस्थित थे। कुल 20 शिक्षकों, 4 विद्यार्थियों और 2 सहायक कर्मचारियों का तिलक, उपरणा, स्मृतिचिन्ह और पौधे लगे गमले देकर सम्मान किया गया साथ ही विद्यालय परिसर में फलदार और छायादार पौधे भी रोपे गए।                      

Share This