बेटी जन्म पर कुँवा पूजन कर किया दशोठन

खबर - पवन शर्मा 

सूरजगढ़। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा देशवासियो से बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ मुहीम का असर अब शहरों के साथ साथ गांवो में भी देखने को मिलने लगा है। गांवो में इस अभियान के बाद अब पूरी जागृति आने लगी है। बेटियों को बोझ समझने की रूढ़िवादी परंपरा को त्यागकर फरट गांव के मोहन धानका ने अपनी पांचवी पुत्री के जन्म पर अपनी पत्नी नीलम को कुँवा पूजन करा एक शिक्षित व सभ्य समाज के सामने अनूठा उदहारण प्रस्तुत किया। मोहन का परिवार काफी कमजोर व गरीब तबके से आता है इस कारण उसकी उपलब्धी काफी विशेष है। कुँवा पूजन के दौरान महिलाये मंगलगीत गाते हुए डीजे की धुनों पर नाचते गाते चल रही थी वही मोहन के घर उसकी खुशियों में शामिल होने के लिए ग्रामीणों के साथ साथ जनप्रतिनिधियों ने भी उत्साह दिखाया। मोहन के घर उसकी खुशियों में शरीक होने के लिए पूर्व आईएएस जेपी चंदेलिया ,भाजपा किसान मोर्चा के जिला उपाध्यक्ष छैलूराम भड़िया ,सरपंच लीला ,पूर्व सरपंच रणवीर ,पूर्व प्रधान शेरसिंह नेहरा ,सहित काफी संख्या में ग्रामीण मौजूद रहे। 

Share This