पुनियाणा में चला प्रशासन का हथौड़ा

खबर - राजेश वैष्णव 
चारागाह भूमि से ढ़हाए एक दर्जन पक्के मकान 
दांतारामगढ़ । दांतारामगढ़ के धोलासरी ग्राम पंचायत के पुनियाणा गांव में अािखर प्रशासन के हथौडे ने करीब एक दर्जन परिवारो के पक्के मकान ढ़हाकर चारागाह भूमि से अतिक्रमण शुक्रवार को हटवा दिया। जबकि करीब तीन माह पहले कच्चे मकान व डोल आदि अतिक्रमण हटाया गया था। अतिक्रमण हटाने के लिए तहसीलदार हरिसिंहराव व नायब तहसीलदार अर्जुनसिंह पटवारियो की टीम व पुलिस जाब्ते के साथ पुनियाणा पहुंचे और जेसीबी व टे्रक्टरो की मदद से करीब आधा दर्जन पक्के मकानो का तुड़वाकर अतिक्रमण हटावाया। 
मामले के अनुसार पुनियाणा गांव की चारागाह भूमि पर कई वर्षो से लोगो ने अतिक्रमण कर रखा है जिसमे कई लोगो ने चारागाह में बाड़े बना रखे है वहीं कई पक्के मकान व दुकाने आदि भी बना ली। अतिक्रमण की कई बार शिकायत की गई लेकिन प्रशासन नहीं चेता इसी बीच विगत दिनो मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे जनसंवाद पर खाटूश्यामजी आई तो चारागाह से अतिक्रमण हटाने की मांग ग्रामीणो ने रखी। शिकायत के बाद अतिक्रमण हटाने में लीपापोती की गई। अतिक्रमण में भेदभाव की शिकायत ग्रामीणो ने सात जून को जिला कलक्टर से की तो प्रशासन ने दो गिरदावर व चार पटवारियो की टीम को भेजकर पक्का अतिक्रमण चिन्हित करवाकर करीब एक दर्जन लोगो को नोटिस थमाया कि २९ जून तक अतिक्रमण हटाने का नोटिस दिया था। राजस्थान पत्रिका ने भी सात जुलाई के अंक मे रसूखदारो के घर पर हथौड़ा क्यो नहीं शीर्षक से प्रकाशित की गई थी। इसके बाद दांतारामगढ़ का प्रशासन बदल गया और अब शुक्रवार को अतिक्रमण हटाया गया है। जबकि ग्रामीणो का आरोप है कि प्रशासन ने दूसरी बार भी पूरा अतिक्रमण नहीं हटाया है। 
इनका कहना है
पुनियाणा गांव की चारागाह भूमि से शुक्रवार को अतिक्रमण हटावा दिया गया। कच्चा अतिक्रमण पहले ही हटा दिया था शुक्रवार को ११ परिवारो के पक्के मकान हटाए गए। अतिक्रमण पूरी तरह से हटाकर चारागाह को खाली करवाया गया है। - हरिसिंह राव, तहसीलदार, दांतारामगढ़,

Share This