भामाशाह कार्ड चालु नही होने से स्वास्थ्य बीमा का लाभ लेने में असमर्थ है खेतड़ी की कृष्णा देवी

खबर - जयंत खांखरा 
खेतड़ी - एक तरफ जहां राज्य सरकार भामशाह स्वास्थय बीमा योजना को अपनी महत्वपूर्ण योजना तथा गरीबो के लिए वरदान साबित होने का ढिंढोरा पीट रही है वही एक गरीब परिवार का भामशाह कार्ड चालु नही होने से योजना का लाभ लेने में असमर्थ हो रहा है। मामला है खेतड़ी के वार्ड 12 के रोहिताश सैनी के परिवार का जिसका कार्ड खादय सुरक्षा में नही जुडने के कारण ईलाज के लिए चालु करवाने के लिए दर-दर भटकने को मजबूर हो रहा है। जानकारी के अनुसार कस्बे के वार्ड 12 के रहने वाले रोहिताश सैनी की पत्नी कृष्णा देवी पिछले एक माह से बिमार चल रही है। जिसको ईलाज के लिए खेतड़ी के राजकीय अस्पताल व नीमकाथाना ले जाया गया, जहां पूरी तरह से ईलाज नही मिल पाने के कारण  वह पूरी तरह से ठीक नही हो पाई।  रोहिताश सैनी ने बताया कि उनके पास जो जमा रकम थी वो उनकी पत्नी कृष्णा देवी के ईलाज में खर्च कर चुके। मंडी में सब्जी की रेहड़ी लगाकर परिवार का पालन पोषण करना उनका एकमात्र साधन है। नीमकाथाना में जांच के दौरान 12 एमएम की पथरी होने की पूष्टी पर ईलाज के लिए पिलानी ले जाया गया । पिलानी में चिकित्सकों ने ऑपरेशन के द्वारा ही पथरी बाहर निकालने की बात कही तथा ऑपरेशन का खर्च तीस हजार रूपए देने की बात कही। रोहिताश सैनी के पास रूपए नही होने की बात पता चलने पर चिकित्सकों ने भामाशाह कार्ड से स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत ईलाज कराने की सलाह दी। पीडि़त परिवार ने भामाशाह कार्ड को खादय सुरक्षा से जुडवाने के लिए काफी भागदौड़ की तथा एसडीएम इंद्राज सिंह से मिलकर समस्या से अवगत कराया तो एसडीएम ने मंत्रालयिक कर्मचारियों के हड़ताल पर होने के की बात कही। पीडित परिवार का कार्ड ऑनलाइन होने में देरी होना घातक न बन जाए कि मरीज कृष्णा देवी अस्पताल में ऑपरेशन के अभाव में जिंदगी की जंग जीने का मजबूर हो रही है।

सब्जी की रेहड़ी है परिवार का एकमात्र सहारा

पीडित परिवार के रोहिताश सैनी ने बताया कि सब्जी के रेहड़ी लगाने के अलावा उनके पास आय के ओर कोई साधन नही है। सब्जी मंडी में रेहड़ी लगाकर दिनभर सब्जी बेचते है तो इसी से ही शाम को घर का चुल्हा जल पाता है तथा परिवार का पालन-पोषण चल रहा है। ऐसे में तीस हजार रूपए में कृष्णा देवी का ऑपरेशन करवाना उसके ऊपर मानों संकट के बादल से छा गए है। 

इनका कहना है

पार्षद कांता देवी

मरीज कृष्णा देवी का खाद्य सुरक्षा योजना के अंतर्गत नाम जुड़वाने हेतु मैंने अपने पूरे प्रयास किए हैं नगरपालिका के माध्यम से सभी कार्यवाही पूर्ण कर ली गई है इस संबंध में उपखंड अधिकारी इंद्राज सिंह से भी मैं स्वयं मिली हूं लेकिन उन्होंने मंत्रालयिक कर्मचारियों की हड़ताल समाप्त होने के बाद नाम जुड़ने की बात कही।

Share This