ढिग़ाल में हुआ जाट समाज का विशाल प्रतिभा सम्मान समारोह

खबर -  पवन दाधीच 
माउन्ट एवरेट की चोटी पर चढ़ाई करने वाली 
निवेदिता बिर्ख सहित कई प्रतिभाएं हुई सम्त्मानित
नवलगढ़/खिरोड़ -जाट महासभा नवलगढ़ के सौजन्य से ढिग़ाल गांव में जाट समाज का विशाल प्रतिभा सम्मान समारोह हुआ जिसमें सैंकड़ों की संख्या में लोगों ने एकत्रित होकर जाटों का संगठित होने के लिए हुंकार भरी। पूर्व कृषि वैज्ञानिक हनुमान प्रसाद की अध्यक्षता में हुए समारोह के मुख्य अतिथि सेवानिवृत्त आरएएस चंदगीराम झाढडिय़ा थे। विशिष्ट अतिथि शिक्षाविद कुलदीप कुलहरि हरिपुरा, स्वतंत्रता सेनानी रामेश्वरलाल पूनियां, सिरयासर सरपंच रामप्यारी लॉयल थे। इस मौके पर जाट महासभा नवलगढ़ के अध्यक्ष महावीर प्रसाद भामू ने कहा कि जाट समाज एक परिवार की तरह है जो पूरे समाज को एक परिवार ही मानते है। जाट समाज ही एक ऐसा परिवार है जो संगठित होकर परिवार जाट समाज के विकास के साथ साथ अन्य समाज को भी साथ लेकर चलने वाला समाज है। किसान सभी के लिए एक अन्न दाता के रूप में माना जाता है और सभी के लिए खाद्यान्न आदि का उत्पादन करता है। भामू ने कहा कि जाट समाज एक फाउन्डेशन खड़ा करने जा रहा है जहंा न केवल जाट समाज की प्रतिभाओं को ही शिक्षा देगा बल्कि अन्य समाज के गरीब तबके के बच्चों को भी शिक्षित करेगा। समारोह के मुख्य अतिथि झाझडिय़ा ने समाज के विकास को लेकर एकजुट रहने की बात करते हुए समाज के लोगों को संगठित रहने के लिए प्रेरित किया वहीं समारोह अध्यक्ष हनुमान प्रसाद ने भी शिक्षा पर जोर देते हुए समाज की प्रतिभाओं को आगे लोने की समाज को शिक्षा दी। समारोह के  दौरान विशिष्ट अतिथि शिक्षाविद कुलदीप कुलहरि ने समाज के लिए हरसंभव मदद करने की अपनी मंशा जाहिर की वहीं संचालनकर्ता एबीइईओ उम्मेद सिंह महला ने भी समाज की प्रतिभाओं को निखारने के लिए भामाशाहों को आगे के लिए प्रेरित किया। इस मौके पर प्रधान गजाधर ढ़ाका ने भी समाज के लोगों से एकजुट रहकर समाज की एक मिशाल पेश करने की नितांत आवश्यकता बताई। समारोह में जहंा राजवीर ङ्क्षसह आर्य ने स्वागत भाषण दिया एवं वहीं महासभा के उपाध्यक्ष रामावतार चौधरी ने सभी का आभार व्यक्त किया। इस मौके पर अतिथियों ने शहीद नायब सूबेदार नत्थू सिंह बिशु की विरांगना सूरजी देवी, शहीद अजय सिंह की मां व कमांडो राजपाल, माउन्ट एवरेस्ट की चोटी पर चढ़ाई करने वाली प्रथम महिला निवेदिता बिर्ख के साथ साथ कई रीटायर्ड आरएएस, आईपीएस अधिकारी एवं कई प्रतिभाओं का माल्यार्पण कर, साफा पहनाकर एवं मोमेंटो भेंटकर सम्मान किया गया। इस मौके पर जाट समाज की ओर से जारी की गई करमा बाई नामक पुस्तक का भी अतिथियों ने विमोचन किया। कार्यक्रम का सफल संचालन एबीइईओ उम्मेद सिंह महला ने किया। इस मौके पर पोकरमल महला, महिला वर्ग की अध्यक्ष सुभिता सीगड़, युवा अध्यक्ष मनफूल पूनिया, रवि कैरू, महेंद्र डूमरा, बाय सरपंच तारा पूनिया, अमित बिर्ख, संजय बिर्ख, हितेश थोरी, विक्रम जेजूसर, चिमनाराम दूत, तुलसीराम पूनिया, बिजेंद्र दूत, दिनेश जेजूसर, पवन पूनिया, कमलेश तेतरवाल, राजेंद्र कपूरिया, जगदीश प्रसाद भींचर, अम्मीलाल मूंड, राजबाला, धर्मवीर सिंह मांठ, सज्जन पूनिया, सतीश खीचड़, अर्जुन महला, खिरोड़ के पूर्व सरपंच सतीश भींचर,रामनिवास डूडी, विजय लॉयल, दयानंद ओला, विजय गोपाल सेवाराम कुलहरि, नकीराम रेपस्वाल, नरेंद्र कस्वा, खेमचंद बिशु, रामदेव महला, जय सिंह कुलहरि, रणजीत सिंह झाझडिय़ा, विद्याधर भामू, एडवोकेट अनिल भामू, बनवारीलाल भींचर, धर्मपाल भामू, महेश भामू आदि सैंकड़ों लोग मौजूद थे। 


Share This