शेखावाटी क्षेत्र में मोरारका फाउण्डेशन द्वारा की जा रही संचालित का कमल एम् मोरारका द्वारा किया गया अवलोकन

नवलगढ़ - शेखावाटी क्षेत्र के प्रसिद्ध उद्योगपति व पूर्व केन्द्रीय मंत्री एवं राज्य सभा सदस्य और मोरारका फाउण्डेशन  के चेयरमैन  कमल एम् मोरारका जी शेखावाटी क्षेत्र में दो दिवसीय दौरे में आज 07 सितम्बर को मोरारका फाउण्डेशन  के द्वारा चलाई जा रही विभिन्न गतिविधियों का अवलोकन किया। शेखावाटी इंजिनियंरिंग काॅलेज में स्टार्टअप कार्यक्रम में अच्छे विचारों को आगे लाने के लिये काॅलेजों के छात्र-छात्राओं  को प्रेरित किया, क्योंकि कोई भी नये व्यापार को शुरू होने से पहले एक नई सोच व नये विचार की जरूरत होती है। इसमें शेखावाटी क्षेत्र से कई काॅलेजों ने इस कार्यक्रम में जुड़े रहकर शेखावाटी क्षेत्र में नये व्यापार शुरू करेंगें।
इसके बाद जयसिंहपुरा में छोटे लाल फार्म हाउस में अर्क निकालने की मशीन  का अवलोकन किया। जैविक खेती में काम आने वाले जैविक आदानों को कम समय में और कम खर्चे अच्छे आदान बनाने की मोरारका फाउण्डेशन  ने एक नई मशीन  ईजाद  की है। इस मशीन  द्वारा किसान अपने खेत में काम आने वाले सभी प्रकार के जैविक आदानों को अपने फाॅर्म पर ही आसानी से बना सकता है। इसके बाद कारी में उधानिकी फसलों में वेल्यू ऐडेड कार्यक्रम का अवलोकन किया। इसमें मोरारका फाउण्डेशन  द्वारा फलादार फसलों को बढ़ावा देने से मिली सफलता के बाद किसानों फलदार पौधो से प्राप्त फलों से अनेक प्रकार के सह उत्पाद बनाये जा सकते है, जिससें किसानों को ज्यादा मुनाफा होगा। किसान के फाॅर्म पर जैम और जैली बना कर आये अतिथियों को टेस्ट करवाया गया।  इसके बाद बड़ागांव के हांस्लसर के किसान महेन्द्र सिंह के फाॅर्म पर किये जा रहे देशी  मुर्गी पालन का अवलोकन किया गया, इसमें किसानों को बताया गया कि खेती के साथ-साथ अनेक प्रकार के नये व्यापार से मुनाफा कमाया जा सकता है। इसके फाॅर्म को देखकर अभी तक 25 किसानों ने इस कार्य को शुरू कर दिया हैं। झुन्झुनू में चलाये जा रहे बीपीएल स्वयं सहायता समूहों के बारे में जानकारियां प्राप्त की है। इस कार्यक्रम में मोरारका फाउण्डेशन  ने झुन्झुनू जिले में 120 स्वंय सहायता समूह मंे से अभी तक 87 समूह बनाये जा चूके है। इन समूहों में से 16 समूहोओं को 16 लाख के चैक अतिथियों के द्वारा वितरित किये गये। नगर परिषद के सभापति सूदेश  अहलावत ने कार्यक्रम के बारे मे विस्तार पूर्वक बताया। 


पूनियां का बास में जैविक दूध पैदा करने वाले किसानों से साथ रूबरू हुये। इन किसानों की हो रही खुषी को किसानों की जूबानी से जाना। मोरारका फाउण्डेषन व लोट्स डेयरी द्वारा चलाये जा रही कार्यक्रम से किसानों बहुत लाभ हो रहा है। 

इसके बाद माण्डासी में गाय के गोबर से ईंधन की लकड़ी बनाने के कार्यक्रम का अवलोकन किया गया। इसमें गोबर और कोयलेे से बनाये गये ईंधन की लकड़ी को किस तरह से बनाया जाता है अथितियों को और स्थानिय किसानों को दिखाया गया। 
मांडासी के ही ताराचन्द कृषि फार्म पर जैविक लंच किया।
विजिट के दौरान उनके साथ उनकी धर्म पत्नी श्रीमती भारती मोरारका, प्रसिद्ध उद्योगपति रमेष सेकसरिया, सुनिता सेकसरिया, रवि जैन व मोरारका फाउण्डेषन में ट्रस्टी राजेन्द्र्र शर्मा और मोरारका फाउण्डेषन के डायरेक्टर श्री मुकेष गुप्ता, जीएम कोर्डीनेषन श्री बापना  व डिप्टी जीएम सत्यवीर बेनीवाल उपस्थित रहे। 
कल दिनांक 08 सितम्बर को सांइर्स पार्क नवलगढ़ में शेखावाटी क्षेत्र की सबसे बड़ी सांईस क्वींज प्रतियोगिता में भाग लेगें। सांईस क्वींज प्रतियोगिता शेखावाटी की 90 स्कूलों में 18000 विधार्थीयों के साथ तीन राउण्ड में सम्पन्न की जायेगी। जिसके दो राउण्ड पूर्व में आयोजित किये जा चुके है। तृतीय राउण्ड 08 सितम्बर को सांईस पार्क में आयोजित किया जायेगा। इसमें विजेता प्रतिभागियों को नगद ईनाम व प्रमाण-पत्र द्वारा सम्मानित किया जायेगा।
इसके बाद सोनी मोहल्ला में में मुद्रा लोन से लाभान्वित महिलाओं से रूबरू होगें। बेरी में सुल्तान फार्म हाऊस पर फलदार पोधो का अवलोकन करेेगंे। इसके बाद झाझड़ गौषाला, परसरामपुरा सीनियर सेकेण्डरी स्कूल में केरियर काउंसलिंग के कार्यक्रम में भाग लेंगे।
इसके बाद हरीराम फार्म हाउस रधुनाथपुरा में मधुमक्खी पालन कार्यक्रम, रधुनाथपुरा में माईक्रोग्रीन कल्टीवेषन गतिविधि का अवलोकन करेंगे।

अनिल सैनी
मैनेजर कोर्डीनेटर
मोरारका फाउण्डेषन


Share This