राजस्थान को हिस्से का पानी देने को लेकर यमुना जल संघर्ष समिति के सदस्यों ने दिया एसडीएम कार्यालय में सोंपा ज्ञापन

खबर - जयंत खांखरा 
खेतड़ी -यमुना जल संघर्ष समिति के सदस्यों नें मंगलवार को पूर्व सरपंच फतेह सिंह के नेतृत्व में एसडीएम कार्यालय में ज्ञापन दिया।  एसडीएम के माध्यम केंद्रिय जल संसाधन मंत्री को दिए ज्ञापन में बताया कि  जल संकट को देखते हुए वर्ष 1994 में पांच राज्यों के बीच यमुना जल समझौता किया गया, जिसके तहत शेखावाटी के झुंझुनूं और चुरू को ताजेवाला हैड से हरियाणा राज्य के बीच से नहर के माध्यम से पानी की आपूर्ति करने का फैसला किया था, लेकिन 2001 में  ही हरियाणा ने अपनी पहले से बनी हुई नहरो से पानी देने के लिए मना कर दिया।  राज्य सरकार की उदासीनता के चलते गंभीर विषय पर कोई ठोस कदम नही उठाया जा रहा है इसलिए राजस्थान को उसके हिस्से का पानी दिया जाए। इस मौके पर तनुज सिंह शेखावत, गजेंद्र सिंह, हरिओम सिंह उसरियां, सुरेंद्र फौजी, भवानी सिंह, दलीप, अमित शर्मा, मनोहर त्यौंदा, नबील खान, राकेश नारनौलिया, नवीन शर्मा आद मौजूद थे। 

Share This