बीएसएफ नहीं भुला दुलीचंद की शहादत को....28 साल बाद वीरांगना का सम्मान करने पहुंचे सिंघाना

खबर -हर्ष स्वामी
सिंघाना। वार्ड नंबर 16 के शहीद दुलीचंद भार्गव की वीरांगना रेशमी देवी का सम्मान करने 28 साल बाद बीएसएफ के अधिकारी सिंघाना पहुंचे। बीएसएफ की 69वी बटालियन जयपुर से आए हवलदार सुरेंद्र सिंह यादव ने अटल सेवा केंद्र में मंगलवार को वीरांगना को साल उढाकर व मिठाई देकर सम्मान किया। सरपंच कल्पना नायक ने वीरांगना को फूल माला पहना कर सम्मान किया। हवलदार सुरेंद्र यादव ने बताया यह सम्मान हमारी यूनिट द्वारा दिया गया है कि परिवार यह नहीं सोचे कि बीएसएफ बटालियन ने शहीद को भुला दिया है जिन्होंने देश के लिए अपना बलिदान दिया उस परिवार को हमेशा याद रखा जाएगा। सरपंच कल्पना ने कहा कि शहीद का दर्जा भगवान के बराबर होता है जो अपने प्राणों की आहुति देकर हमारी रक्षा करते हैं। शहीद दुलीचंद का जन्म 7 फरवरी 1983 को वार्ड नंबर 16 में हुआ था तथा शहीद 12 जून 1990 को आतंकवादियों से मुठभेड़ में शहीद हो गए थे कार्यक्रम में शहीद का भाई रोहतास, पुत्र रविंद्र, विजेंदर सहित कैलाश चंद्र बडगूजर, अशोक नायक, यासीन खान सहित ग्रामीण मौजूद थे।

Share This