कांग्रेस से पहले आ सकती है भाजपा की सूची !

खबर - प्रशांत गौड़ 
कांग्रेस में माथापच्ची में उलझ रही है दावेंदार 
दीपावली से पहले आएगी कांग्रेस की Ÿभी सूची 
अलवर  ।  अब कांग्रेस से पहले भाजपा की सूची जारी हो सकती है। दरअसल कांग्रेस की सूची में माथापच्ची ज्यादा होने के कारण पार्टी जारी करने से बच रही है। जिन सीटों पर कांग्रेस पहली सूची जारी करना चाहती है वहीं पर विवाद सामने आ रहा है। वहीं भाजपा में करीब 55 सीटों का पैनल निर्विरोध तैयार है जहां कोई बड़ा विरोध की आशंका नहीं है। इसलिए अब एक संभावना यह भी आ रही है कि कांग्रेस से पहले भाजपा सूची आ सकती है।
कांग्रेस सूत्रों की माने तो विवाद हल नहीं होने पर यह सूची नवम्बर की पहले सप्ताह तक आ पाएगी।दरअसल चुनाव  प्रचार से लेकर विधानसभा सीटों को लेकर भाजपा की बड़ी तैयारियों के आगे कांग्रेस पीछे रह गई है। मुख्यमंत्री हर सीट की पूरी रायशुमारी कर रही है ताकि सबकी बात सुनने के बाद टिकट ऐसे प्रत्याशी को मिले जो अधिकाधिक पसंद हो जबकि कांग्रेस में सूची तीन पैनल में उलझने के कारण विवादों में है। इसमें एक पीसीसी अध्यक्ष, एक स्क्रीनिंग कमेटी अध्यक्ष और एक पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का पैनल माना जा रहा है।
25 अक्टूबर या उसके बाद कभी भी होने वाली कांग्रेस की  केन्द्रीय चुनाव समिति बैठक में राजस्थान की कांग्रेस टिकटों पर भी मंथन होगा। पहली सूची में करीब 60 नाम हो सकते है। कांग्रेस में पुराने नेताओं का विरोध होने के साथ पैराशुटियों का विरोध है। ऐसे में अब सूची पर कई बार मंथन के बाद भी नेता उलझे है। राहुल गांधी पहले ही कह चुके है कि पैराशुटी को टिकट नहीं मिलेगा।
राहुल ही देंगे अंतिम मंजूरी 
सीईसी की बैठक में अब मंथन होने के बाद पैनल और सीटों की स्थिति तय होगी। कांग्रेस भी मान रही है कि उसके पास दावंदारों की लंबी सूची होने के कारण समय लग रहा है। वहीं  अधिकांश सीटों पर दावेदार 50 से ऊपर है। ऐसे में नेता हर सीट पर बडी माथापच्ची कर रहे है। इसके बाद राहुल गांधी की अध्यक्षता में चुनाव समिति की बैठक में अंतिम मंजूरी मिलेगी। राजस्थान में 12 नवम्बर से नामंकन प्रक्रिया शुरु हो जाएगी और उससे पहले दिवाली का त्यौहार भी आ जाएगा। जिस कारण कांग्रेस दीपावली से पहले सूची निकाल देंगी।
भाजपा पूरी तैयारी के साथ: चुनावी रणनीति तय करने के लिए इस समय भाजपा के पास राजस्थान में दिग्गज महारथियों की टीम है जो कांग्रेस में नहीं है। भाजपा में पूरी टीम तमाम अंतद्वंद के बावजूद मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के साथ खड़ी है ऐसे में भाजपा की तैयारी पूरी प्लानिंग के साथ है। इस कारण कई संभाग पर मंथन पूरा है। सूत्रों की माने तो करीब 55 नाम पूरी तरह फाइनल है जिनको मुख्यमंत्री की मंजूरी बताई जा रही है और राष्टीय अध्यक्ष अमित शाह और प्रधानमंत्री की सहमति मिलने के बाद जारी हो सकती है। प्रदेश प्रभारी प्रकाश जावेडकर और केन्द्रीय टीम के बैठने के साथ ही सूची बाहर आ जाएगी। भाजपा में कई चरणों में सत्ता से लेकर  संगठन और केन्द्रीय टीम स्तर पर भी रायशुमारी हुई जिसमें तीनों की रायशुमारी में आए सर्वसम्मत नाम को मंजूरी मिल सकती है। यह भी तय है कि भाजपा कांग्रेस की पहली सूची में ही  युवा चेहरे दिखेंगे।

Share This