वागड़ नेचर क्लब सदस्यों के साथ एडीजे भाटी ने भी की बर्डवॉचिंग


 
‘एक्सप्लोरिंग बर्ड्स इन बांसवाड़ा’
 
बांसवाड़ा-जिले की समृद्ध नैसर्गिक संपदा में पाए जाने वाले स्थानीय और प्रवासी परिंदों की जानकारी को जन-जन तक पहुंचाने और इसके माध्यम से बांसवाड़ा को पर्यटन मानचित्र पर स्थापित करने की दृष्टि से जिला पर्यटन उन्नयन समिति व वागड़ नेचर क्लब के ‘एक्सप्लोरिंग बर्ड्स इन बांसवाड़ा’ कार्यक्रम के तहत शनिवार को उदयपुर रोड़ पर स्थित जंतोड़ा व रोहिड़ा तालाब पर बर्डवॉचिंग की गई और पक्षियों से संबंधित जानकारियां संकलित की। 
बर्डवॉचिंग दौरान अपर जिला एवं सेशन न्यायाधीश देवेन्द्रसिंह भाटी, पक्षीप्रेमी संकेत शाक्यवंशी, जनसंपर्क उपनिदेशक कमलेश शर्मा, वाईल्ड लाईफ फोटोग्राफर भरत कंसारा, पक्षीप्रेमी भंवरलाल गर्ग व जय शर्मा के दल ने आज दिनभर बर्डवॉचिंग के साथ पक्षियों के बारे में जानकारियां संकलित की। यहां पर हजारों की संख्या में पक्षियों की जलक्रीड़ाएं देखकर दल सदस्य अभिभूत नज़र आए। इसके साथ ही इन स्थानों पर पाई जाने वाली प्रजातियों की फोटोग्राफी भी की गई। 
बांसवाड़ा बेस्ट बर्डवॉचिंग डेस्टिनेशन: एडीजे
वागड़ नेचर क्लब सदस्यों के साथ बर्डवॉचिंग करने पहुंचे अपर जिला एवं सेशन न्यायाधीश देवेन्द्रसिंह भाटी ने कहा कि नैसर्गिक सौंदर्य के साथ ही समृद्ध जैव विविधता वाला बांसवाड़ा जिला स्थानीय व प्रवासी पक्षियों की पसंदीदा सैरगाह है और प्रदेश की बेस्ट बर्डवॉचिंग डेस्टिनेशन है। उन्होंने कहा कि यहां की जैव विविधता को आने वाली पीढ़ी को दिखाने के लिए प्रशासन को प्रयास करने चाहिए। उन्होंने वागड़ नेचर क्लब के एक्सप्लोरिंग बर्ड्स इन बांसवाड़ा कार्यक्रम को भी सराहनीय कार्यक्रम बताया। 
सारस के तीन जोड़े व कई प्रजातियों के पक्षी दिखे: 
जंतोड़ा व रोहिड़ा तालाब पर बर्डवॉचिंग करने पहुंचे सदस्यों ने सारस क्रेन के तीन जोड़ों को देखकर प्रसन्नता जताई। इसी प्रकार यहां पर प्रवासी पक्षी रेड क्रस्टेड पोचार्ड, शॉवलर, गारगेनी, पिनटेल, गेडवाल, वेगटेल, इत्यादि के साथ स्थानीय पक्षी पेंटेड स्टॉर्क्स, स्पूनबिल स्टॉर्क्स, वूली नेक्ड स्टॉर्क्स, कॉम्ब डक, स्पॉटबिल डक, कॉटन पिग्मी गूज, आईबिस की बड़ी संख्या में उपस्थिति भी दर्ज की गई।

Share This