सांवलोद में शहीद राजेश नेहरा स्मृति वालीबाल प्रतियोगिता का आयोजन

खबर - हर्ष स्वामी 
राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिता में 24 टीमे ले रही भाग
गीतांजलि ज्वेलर्स के एमडी व भामाशाह शिवकरण जानू ने किया उद्घाटन

सिंघाना।सांवलोद के स्पोर्ट्स कंपलेक्स में शहीद राजेश नेहरा की चौथी पुण्य स्मृति पर राष्ट्रीय वालीबाल प्रतियोगिता का आयोजन किया। प्रतियोगिता का उद्घाटन गीतांजलि ज्वेलर्स के एमडी व भामाशाह शिवकरण जानू ने किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता पूर्व व्याख्याता घीसाराम  ने की। कार्यक्रम में शहीद राजेश नेहरा की वीरांगना सुमन देवी,  माता शांति देवी व पिता खेताराम का सम्मान किया गया। प्रतियोगिता में राष्ट्रीय स्तर की 24 टीमें भाग ले रही हैं जिसमें लखनऊ, उदयपुर, जयपुर, दिल्ली जाट रेजिमेंट, चांदगोठी, बनगोठङी, आगरा, चूरू सहित कई टीमें ले रही है महिला वर्ग में आगरा व जयपुर की टीमें भाग ले रही है उद्घाटन के बाद जानू ने खिलाड़ियों व ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कहा खेल को खेल की भावना से खेलना चाहिए। जिस प्रकार सांवलोद के शहीद राजेश नेहरा ने खेलते हुए सिक्किम में वीरगति को प्राप्त की। उसी के नाम को आगे बढ़ाने के लिए सांवलोद को खेल के मानचित्र पर आगे लाने की कोशिश की जाएगी। एक छोटे से गांव में इतनी बड़ी प्रतियोगिता होना एक अच्छी पहल है इससे खिलाड़ियों को भी तराशा जा सकेगा। उनको अच्छी टीमों के साथ खेलने का मौका मिलेगा और भारत में कई खिलाड़ी अपना नाम स्वर्ण अक्षरों में लिखा पाएंगे। उद्घाटन के पहले मैच में जाट रेजिमेंट ने चिड़ावा की टीम को सीधे सेट में 25- 19 व 25-16 से हराकर दूसरे राउंड में प्रवेश किया। कार्यक्रम का संचालन प्रेम प्रकाश ने किया। वहीं पूर्व प्रधान बजरंग लाल नेहरा, पशुपालन विभाग के संयुक्त निदेशक इंद्र सिंह नेहरा, अंतरराष्ट्रीय बास्केटबॉल खिलाड़ी ओमप्रकाश ढाका, महेंद्र सिंह राव, कोच विद्याधर जाखड़, प्रधानाचार्य संतोष बाढेटिया कप्तान रमेश नेहरा, कप्तान सुल्तान सिंह, सरपंच सागरमल, पूर्व सरपंच करण सिंह, नंदराम, ओम प्रकाश नेहरा, डॉ अनुराग नेहरा व प्रिंगल नेहरा सहित अनेक लोग उपस्थित थे।
खेल के प्रति था जोश, खेलते हुए ही पाई वीरगति
शहीद राजेश नेहरा अपना जीवन खेल के प्रति समर्पित रहे। जाट रेजिमेंट बरेली में 1998 मे भर्ती होने के बाद उनकी 14 बटालियन में नियुक्ति हुई। 16 साल उन्होंने बटालियन में सेवा की। खेल के प्रति उनकी रुचि वह जज्बा उसमें कूट-कूट कर भरा हुआ था वे बालीवाल के अच्छे खिलाड़ी थे 19 दिसंबर 2014 को सिक्किम में वॉलीबॉल खेलते हुए शहीद हो गए थे। सावलोद में खेल मैदान भी शहीद राजेश नेहरा की तीसरी पुण्यतिथि पर  निर्माण किया गया। मैदान का उद्घाटन समाजसेवी नौरंग डांगी ने किया था।

Share This