शपथ ग्रहण पर उमड़ा जनसैलाब, जननायक का दिखा जादू

खबर - प्रशांत गौड़ 
जयपुर । अल्बर्ट हॉल पर हुआ शपथ ग्रहण समारोह एक यादगर पल बन गया। यहां पर  प्रदेशभर से जनसैलाब उमड़ा। अशोक गहलोत को तीसरी बार सीएम बनते देखने की हसरत हर किसीमें दिखाई दी। कोई नाचता गाता आया, किसी ने कालबेलिया नृत्य किया तो कहीं युवा जोश में दिखे तो कहीं अपनी शक्तिप्रदर्शन का नजारा दिखाते विधायक दिखे तो जो सैकड़ों  लोगों के साथ कार्यक्रम में पहुंचे। कार्यक्रम का यह नजारा तब और यादगार बन गया जब पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे शपथ ग्रहण समारोह स्थल पर पहुंची तो हर किसी ने उनका तहेदिल से शक्रिया अदा किया। इस दौरान अशोक गहलोत और वसुंधरा राजे का एक साथ दिखना एक यादगार लम्हा बन गया क्योकि दोनो ही बड़े जनाधार वाले जनछवि नेता है।
 सुबह 8 बजे से ही अल्बर्ट हॉल लोगों से आबाद होने लगा था। लोगों को इंतजार भी बेसब्री से अपने मु यमंत्री अशोक गहलोत और कॉ पायलट यानि डिप्टी सीएम सचिन पायलट का था। मंच पर दोनों के एक साथ दिखते ही अजीब सा जोश कार्यकर्ताओं में आ गया। मंच के नीचे जननायक गहलोत की जय, मारवाड़ के गांधी की जय, हमारा नेता कैसा हो सचिन पायलट जैसा हो। युवा जोश ने दिखाया कमाल जैसे नारे लगे। पायलट समर्थकों में जोश तो ऐसा दिखा जैसे राजस्थान की कमान इस बार सचिन पायलटके पास ही हो।
इससेपहले दोनों नेताओं  ने एयरपोर्ट पर पहुंचे जहां पर उन्होंने बाहर से आए विभिन्न पार्टियो के अध्यक्ष, पूर्व मु यमंत्री, वर्तमान मु यमंत्री, कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं का स्वागत किया। इस दौरान जैसे ही कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी जयपुर पहुंचे तो उनका मु यमंत्री अशोक गहलोत और डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने बारी-बारी से स्वागत किया वहीं पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह का बारी-बारी से स्वागत किया। इस दौरान कार्यक्रम में शामिल होने आए  ज्योतिदित्य सिंधिया ने दोनों नेताओं को बधाई दी। वहीं कार्यक्रम में शिकरत होने दलों के नेताओं का फुल-मालाओं और गुलदस्ते देकर स्वागत किया गया। वहीं शपथग्रहण समारोह शुरू होने पर अल्बर्ट हॉल पर मौजूदा भारी भीड़ के बीच जब शपथ ग्रहण पूरा हुआ तो दोनो के समर्थन में नारेबाजी हुई।
खान पहुंचे समर्थकों के साथ: कार्यक्रम में विधायक रफीक खान शक्तिप्रदर्शन करते दिखे वह बड़े लवाजमे के साथ वहां पहुंचे और सैकड़ों की भीड़ में अलग ही दिखने लगा। इस दौरान अशोक गहलोत जिंदाबाद के नारे गुंजयामान हो गए।
भीड़भाड़ को नियंत्रित करना हुआ मुश्किल: अल्बर्ट हॉलमें दोगूना भीड़ पहुचने से पुलिस के हौसले पस्ते होते दिखे। उत्साही लोगों को काबू करना मुश्किल दिखा तो कुछ बुर्जग संभल नहीं पाने के कारण गिर गए जिनके ऊपर से लोग निकलते दिखे तो पुलिस वालों ने उन बुर्जगों को उठाकर एक तरफ किया
महिलाओं में विशेष उत्साह
 इस कार्यक्रम के दौरान गांव से आती महिलाएं अपने राजस्थानी नृत्य अंदाज में नए सीएम को बधाई देने पहुंची तब मंच से ही गहलोत ने बार-बार हाथ हिलाकर उत्साही भीड़ का धन्यवाद ज्ञापित किया।
राहुल हुए फिर उत्साहित 
मुख्यमंत्री शपथ ग्रहण समारोह में आम जनता का मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के प्रति क्रेज और लगाव और पायलट के प्रति युवाओं मेंं जोश को देखकर कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी उत्साहित दिखे। उन्होंने दोनों को इस पद के लिए धन्यवाद देते हुए अच्छा काम करने की नसीहत दी।
महागठबंधन की एकता में दिखी कमी
इस दौरान मुख्यमंत्री शपथ ग्रहण समारोह में महागठबंधन के कई नेता पहुंचे लेकिन राहुल गांधी को प्रधानमंत्री घोषित करने से स्टालिन से नाराजगी के कारण अखिलेश और मायावती का साथ नहीं आना चर्चा का विषय बना रहा। रविवार को द्रमुक नेता ने राहुल गांधी को गठबंधन के पीएम पद का उम्मीदवार बताया था तो इस मामले में पश्चिम बंगाल की ममता भी कही न कही नाराज दिख रही है। इससे पहले मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से सपा और बसपा नेता के अच्छे संबंध होने के चलते दोनों आना तय माना जा रहा था लेकिन अब उनका न आना चर्चा का विषय बन गया।

 पधारो म्हारा देश 
 अशोक गहलोत और सचिन पायलट के राजतिलक में शामिल होने आए दिग्गजों का स्वागत पलक पावड़े बिछाकर किया गया। पधारो हारा देश की संस्कृति के अनुसार राजस्थानी पर परा से उनका स्वागत हुआ। इस दौरान मुम्यमंत्री अशोक गहलोत और डिप्टी सीएम सचिन पायलट खुद उनका गुलदस्ते देकर स्वागत किया। इसमें राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, जम्मू-कश्मीर के पूर्व मु यमंत्री फारूख अब्दुला सहित कई दलों के दिग्गज नेता एयरपोर्ट से सीधा अल्बर्ट हॉल पहुंचे।

 
 

यह रही खास झलक 
कार्यक्रम में शपथग्रहण समारोह को देखने के लिए बडी स्क्रीने लगाई गईथी
2.कार्यक्रम के कारण पुलिस स ती के कारण वीआईपी रुट से ट्रैफिक डायवर्ट होने के कारण दो से तीन घंटे जाम की स्थिति रही और लोग परेशान रहें।
3.अल्बर्ट हॉल से रामलील मैदान तक कार्यकर्ताओं का रेलमेपल दिखाई दी।
4. वसुंधरा राजे के आने पर लोगों ने उनका भी स्वागत किया। वसुंधरा ने उसी पर परा का निर्वहन किया जो पूर्व में अशोक गहलोत ने किया था
5.लोग सर्दी के कारण धूजते दिखे लेकिन उल्लास पूरी तरह दिखा
6. बाहर से आए लोग शपथग्रहण के बाद रामनिवास बाग, अल्बर्ट हॉल और चिडियाघर देखने में मशगुल दिखे।


Share This