मुझको आने दो पापा मत बहाने लो पापा- मतवाला

खबर - जयंत खांखरा 
हास्य कवि सम्मेलन में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ की कविता सुनाकर रुलाया श्रोताओं को
खेतड़ी -खेतड़ी के ऐतिहासिक पोलो ग्राउंड में मीना राम  सैनी के फीजी जाने की स्मृति में आयोजित 11 वें हास्य कवि सम्मेलन में कवियों ने श्रोताओं को खूब गुदगुदाया। 4 घंटे तक चले हास्य कवि सम्मेलन की खास बात यह रही कि जहाजपुर से आए  हास्य कवि महेंद्र मतवाला ने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ पर गर्भ में कन्या भ्रूण हत्या पर व्यंग कविता के माध्यम से "मुझ को आने दो पापा मत बहाने नो पापा" श्रोताओं को भाव विभोर  कर रोने पर मजबूर कर दिया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि एडिशनल एसपी विरेंद्र कुमार मीणा, विशिष्ट अतिथि बजरंग लाल शर्मा, अशोक सिंह शेखावत, कार्यवाहक खंड मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ महेंद्र कुमार सैनी, कांग्रेस ब्लॉक अध्यक्ष गोकुल चंद सैनी, शिव कुमार सैनी, थाना अधिकारी विक्रम सिंह राठौड़, शंकर सिंह सेफ्रागुवार, विजयपाल भाटीवाङ जबकि कार्यक्रम की अध्यक्षता रामकृष्ण मिशन के सचिव आत्म निष्ठानंद ने की। कवि सम्मेलन के शुरुआत में केकड़ी से आए कवि कमलेश शर्मा राजस्थानी भाषा में कविता सुनाकर श्रोताओं को गुदगुदाया वही डॉक्टर एनके शर्मा ने महिला नेता पर हास्य व्यंग प्रस्तुत कर पैरोडी गायी "एक नेती को देखा तो ऐसा लगा"। राजस्थान के मशहूर कवि गजेंद्र सिंह चारण अपने हास्य से श्रोताओं को खूब हंसाया। जोधपुर से आए वीर रस के कवि विवेक पारीक ने "हम भारत मां के नौनिहाल"। "सनातन धर्म और इस्लाम दोनों एक है"। कविता सुनाकर श्रोताओं में देश भक्ति का जज्बा भर दिया कार्यक्रम के बीच बीच में शेखावाटी के कवि हरीश हिंदुस्तानी ने अपने हास्य से श्रोताओं का मन मोह लिया कवि सम्मेलन में बीएल सावन ने राजस्थानी गीत प्रस्तुत किया। कवि सम्मेलन के अंत में राष्ट्रगान का भी आयोजन किया गया। इस मौके पर गोपाल सैनी ,दौलत सिंह, बाबूलाल, पृथ्वीराज, सत्यनारायण भार्गव, सुरेंद्र फौजी, सहित सैकड़ों लोग उपस्थित रहे।

Share This