राजा अजीत सिंह की प्रेरणा से विवेकानंद ने लहराया सनातन धर्म का परचम- शंकर सिंह

खबर - जयंत खांखरा 
खेतड़ी -राजकीय अजीत अस्पताल के सामने शुक्रवार को राजा अजीत सिंह की 118 वी पुण्यतिथि मनाई गई। कार्यक्रम में आए युवाओं ने राजा अजीत सिंह की प्रतिमा पर माल्यापर्ण कर नमन किया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि पूर्व सरपंच फतेह सिंह शेखावत, विशिष्ट अतिथि हरिओम सिंह उसरियां अध्यक्ष राजपुत युवा सभा थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता शंकर सिंह सेफरागुवार प्रदेशाध्यक्ष सर्व समाज सेना ने की। श्रृदांजली सभा को सम्बोधित करते हुए पूर्व सरपंच फतेहसिंह शेखावत ने कहा कि राजा अजीत सिंह ने विश्व के मानचित्र पर खेतड़ी के नाम को दर्शाया था। उनकी प्रेरणा से स्वामी विवेकानंद ने सनातन धर्म का परचम लहराया था। शंकर सिंह सेफरागुवार ने कहा कि राजा अजीत सिंह ने यहां की जनता को आपस में भाइचारे की भावना विश्व में सनातन धर्म का परचम लहराने में राजा अजीत सिंह की देन है उन्ही की बदौलत से स्वामी विवेकानंद ने धर्म सम्मेलन में भाषण देकर विश्व के लोगों को भारत की आस्था के सामने झुकने के लिए मजबूर कर दिया था। इस दौरान अतिथियों ने राजा अजीत सिंह की प्रतिमा पर माल्यापर्ण कर उनको नमन किया तथा राजा अजीत सिंह अमर रहे के जयकारे लगाए। कार्यक्रम के बाद युवाओं ने राजकीय अजीत अस्पताल में मरीजों को फल वितरीत किए। इस मौके पर सुरेंद्र फोजी जिला संयोजक करणी सेना, रजत शर्मा, सुबेदार मदनसिंह, तनुज सिंह, अमित सिंह, जयपाल सिंह, अजय सिंह, मनोज कुमार, सोनू सिंह, भोपाल सिंह, विनोद सोनी, विक्रम सिंह, लक्ष्मण सिंह, सुनिल सिंह, देवेंद्र सिंह, दीपक राणा, चिंटु सुरोलिया सहित अनेक युवा मौजूद थे।

Share This