पोदार ट्रस्ट द्वारा जल संरक्षण पर बाय में सेमीनार

नवलगढ़:- दी आनन्दीलाल पोदार ट्रस्ट की ट्रस्टी सुश्री वेदिका पोदार द्वारा चलाई जा रही ‘‘जल संरक्षण’’ की मुहिम (जल है तो कल है) के तहत् बाय स्थित राजकीय माध्यमिक बालिका विद्यालय में एक दिवसीय सेमीनार आयोजित की गई। कार्यक्रम की अध्यक्षता स्कूल प्रधानाध्यापिका पुष्पा देवी ने की। सेमीनार के संयोजक राजेश  वर्मा व सह संयोजक पोदार स्कूल के प्राचार्य डाॅ. मोहन सिंह थे। सेमीनार को संबोधित करते हुए संयोजक राजेश  वर्मा ने ट्रस्टी द्वारा चलाई जा रही सामाजिक सरोकारों से जुड़ी मुहिमों ‘‘वृक्ष लगाओ- भविष्य बचाओ‘‘ ‘‘स्वच्छ भारत- स्वस्थ भारत ‘‘ ‘‘पढ़े भारत- बढ़े भारत‘‘ ‘‘बेटी पढ़ाओ - बेटी बढाओ‘‘ जल है तो कल है के उद्देष्य एवं इसके स्वरूप पर प्रकाश  डाला और जल संरक्षण संबंधी विधियों की जानकारी दी। डाॅ. मोहन सिंह ने संबोधित करते हुए कहा कि आज विष्व के समक्ष घटता भू-जल स्तर सबसे बड़ी समस्या है और यही स्थिति रही तो आने वाले समय में देशों  के मध्य युद्ध का कारण पानी ही होगा। इसलिए हम सबको जल का समुचित उपयोग कर इसके दुरूप्योग या व्यर्थ दोहन को रोकना होगा तथा अधिक से अधिक वृक्षारोपण करना होगा। 
सेमीनार को संबोधित करते हुए स्कूल प्रधानाध्यापिका पुष्पा देवी ने पोदार ट्रस्ट द्वारा चलाई जा रही जल संरक्षण व सामाजिक सरोकारों से जुड़ी अन्य मुहिमों की भूरि-भूरि प्रशंसा  की और इनमें अपने सहयोग व समर्थन की प्रतिबद्धता जताई। सेमीनार में उपस्थित स्कूल के विद्यार्थियों व उपस्थित ग्रामीणों ने जल संरक्षण की विधियों के बारे में जानकारी प्राप्त की व इसे जीवन में अपनाने का भरोसा जताया। सेमीनार में पोदार काॅलेज के प्रो. दाउलाल बोहरा, जी.पी.एस., पोदार बी.एड. काॅलेज, पोदार टाइनी टोडलर, पोदार स्क्ूल के स्टाॅफ सदस्यों ने भी जल संरक्षण पर अपने विचार व्यक्त किये।
पोदार ट्रस्ट के चेयरमैन कांतिकुमार आर पोदार व ट्रस्टी सुश्री वेदिका  आर पोदार का मानना है कि ऐसी सेमीनारों के माध्यम से लोगो को जल बचाने एवं पर्यावरण संरक्षण के लिए जागरूक कर सकते है। ऐसी सेमीनार भविष्य में प्रत्येक ढाणी एवं गांव में आयोजित किए जायेगें जिससे लोगो को जल बचाने व वृक्ष लगाने के लिए प्रेरित किया जायेगा। 



Share This