लोहार्गल के संत भागीरथ दास की देह पंचतत्व में विलीन

खबर - विकास कनवा 
उदयपुरवाटी- तीर्थराज लोहार्गल में ज्ञान वापी स्थित अमरनाथ गुफा में निवासित भागीरथदास बाबा का शनिवार देर रात देवलोकगमन हो गया। इससे पहले तबियत बिगड़ने पर संत भागीरथदास को 108एंबुलेंस की सहायता से चिराना सीएचसी ले जाया गया। बाबा के निधन की सूचना काफी संख्या में श्रद्धालु अंतिम दर्शन करने उमड़े। अमरनाथ आश्रम से लोहार्गल व गोल्याना तक डीजे की रामधुन के साथ बैकुण्ठ यात्रा निकाली गई। सर्वसमाज के लोगों के सहयोग से पार्थिव देह का विधिवत् अंतिम संस्कार किया गया। मोरी वाले बालाजी के पास पार्थिव देह को पंचतत्व में विलीन कर दिया गया। भागीरथदास बाबा पिछले करीब 21वर्षों से लोहार्गल व किरोड़ी क्षेत्र में साधना कर रहे थे। अंतिम संस्कार में लोहार्गल सरपंच घासीलाल स्वामी, ठेकेदार भैरूंसिंह शेखावत, गिरवरसिंह शेखावत, जगदीशसिंह रामजी, महेंद्र जांगिड़, विश्वनाथ स्वामी, महेंद्रसिंह, राजवीरसिंह गोल्याना, शंभूदयाल स्वामी, संतोष कुमावत, राजेश शर्मा, शक्तिसिंह शेखावत, छगनलाल बारी, विजयसिंह सांखला, अंकित शर्मा चिराना, सोनूसिंह शेखावत, प्रदीपसिंह शेखावत समेत काफी श्रद्धालु शामिल थे।

Share This